ब्रह्मलीन श्री महंत नरेंद्र गिरि आत्महत्या मामले में आरोपी आनंदगिरी को लेकर निर्माणाधीन आश्रम में पहुंची सीबीआई, टीम को मोबाइल फोन, लैपटॉप और उस आश्रम की तलाश जहां आनंद गिरि ठहरते थे?

इस खबर को सुनें


हरिद्वार। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेंद्र गिरी की मौत मामले की जांच कर रही सीबीआई की टीम मामले में गिरफ्तार आनंद गिरि को लेकर हरिद्वार के श्यामपुर क्षेत्र में स्थित उनके पहुंची है। सीबीआई देहरादून की टीम आरोपी महंत आनंद गिरि को लेकर बुधवार को हरिद्वार के श्यामपुर क्षेत्र के गाजीवाला गांव स्थित आश्रम पहुची,जहां पर टीम ने आनंद गिरि के आश्रम के सेवादारों से पूछताछ कर मामले की जानकारी जुटाई। सीबीआई की टीम आनंद गिरी को जौलीग्रांट एयरपोर्ट से हरिद्वार लाई है। वही टीम द्वारा आश्रम के अंदर जाते वक्त आरोपी आनंद गिरि ने कहा कि जांच एजेंसी अपना काम कर रही है। पूरी मामले की सच्चाई सामने आएगी। इससे पहले एचआरडीए की ओर से लगाए गई सील को काटा गया। जिसके बाद आनंद गिरि को आश्रम के अंदर ले जाया गया। सूत्रों की मानें तो सीबीआई की एक टीम आनंद का मोबाइल और लैपटॉप बरामद करने के लिए हरिद्वार आई है। वहां उनके आश्रम में तलाशी करके वांछित सामानों की बरादमगी भी की जाएगी। उनके लैपटॉप और मोबाइल में नरेंद्र गिरि के अश्लील वीडियो संबंधित साक्ष्य मिलने की उम्मीद है। सीबीआई उसे कब्जे में लेकर फोरेंसिक जांच कराएगी। सीबीआई की दूसरी टीम आद्या तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी से पुलिस लाइन में पूछताछ कर रही है। गौरतलब है कि अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में आरोपी बनाए गए आनंद गिरि, आद्या तिवारी और संदीप तिवारी को जांच एजेंसी ने कोर्ट के आदेश पर मंगलवार को सात दिन के लिए कस्टडी रिमांड पर लिया था। इन तीनों के खिलाफ महंत नरेंद्र गिरि ने अपने सुसाइड नोट में मौत का जिम्मेदार बताया था। बता दें कि आनंद गिरि निरंजनी अखाड़े से निकाले जाने के बाद हरिद्वार स्थित एक आश्रम में रुके थे। बुधवार को उसी आश्रम से सीबीआई आनंद गिरि का लैपटॉप समेत अन्य सामान बरामद करने की कोशिश के तहत उनके निर्माणाधीन आश्रम पहुची। बताया जाता है कि नरेंद्र गिरि ने अपने सुसाइड नोट में जिस अश्लील वीडियो का जिक्र किया था, उसी के बारे में सुराग लगाने के लिए सीबीआई छानबीन कर रही है।