डबल इंजन की सरकार पटरी से उतरी हर मोर्चे पर पूरी तरह विफल- प्रीतम सिंह

इस खबर को सुनें

पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष एवं नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने पुष्कर सिंह धामी को सबसे कमजोर मुख्यमंत्री बताते हुए कहा कि वर्तमान सरकार को बताया शराब माफिया भू माफिया खनन माफिया की सरकार हैं। कहा कि 2017 में प्रचण्ड बहुमत से सत्ता में आयी जन अपेक्षाओं व वादों को पूरा करने में नाकाम रही है। युवाओं को रोजगार देने में भी डबल इंजन सरकार विफल साबित हुई है। उत्तराखण्ड सर्वोच्च बेरोजगारी दर वाले राज्यों में शुमार हो गया है। 2022 में उत्तराखण्ड में कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है। कांग्रेस पारदर्शी और भ्रष्टाचार मुक्त शासन जनता को देगी। रविवार को प्रेस क्लब में पत्रकारों से वार्ता करते हुए नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने भाजपा के शीर्ष नेताओं के लगातार उत्तराखण्ड दौरे पर कटाक्ष करते हुए कहा कि भाजपा के शीर्ष नेतायों को अहसास हो गया है कि भाजपा हार रही है। अब बात बनाने वाली नहीं है जनता ने भाजपा की रुखसती का मन बना लिया है। उत्तराखण्ड के सीएम पुष्कर सिंह धामी को कमजोर सीएम बताते हुए कहा कि रक्षा मंत्री ने उनको नाईट वाचमैन बताया और नाईट वाचमैन वो होता है जो सबसे कमजोर होता है ,यह सीएम केवल घोषणा मंत्री है और अब इन घोषणाओ से बात बनने वाली नहीं। उत्तराखण्ड की भाजपा सरकार को खनन माफिया ,शराब माफिया और भू माफिया को संरक्षण देने वाली सरकार बताया। चुनाव में बेरोजगारी और महंगाई को मुख्य रूप से उठाएंगे, उत्तराखण्ड में भी यूपी की तरह से 40 फीसदी तक महिलायों को टिकट देने का प्रयास करेंगे। कांग्रेस में कोई गुट अलग अलग नही ,नही मेरा और नही हरीश रावत का,हर कांग्रेस साथी सोनिया गांधी के प्रति समर्पित,केवल कांग्रेस गुट है ,बड़ा परिवार और आंतरिक लोकतंत्र है ,इसमे भाव को व्यक्त करने में ऐसा अहसास होता है कि गुट है। कांग्रेस में प्रत्याशियों के चयन टिकट वितरण प्रणाली से ही होगा और अंतिम निर्णय सीईसी से होगा। विधानसभा चुनाव के दौरान प्रचार करने आए पीएम मोदी ने किसानों से सरकार बनने के बाद ऋण माफी तथा आयु दोगुना करने का वादा किया था। लेकिन ना तो किसानों की आय बढ़ी ना ही ऋण माफ हुआ। राहत देने के बजाए किसानों पर तीन कृषि कानून लाद दिए गए। जिनके विरोध में देश भर के किसान दिल्ली में आंदोलन कर रहे हैं। उपचुनावों में हार तथा पांच राज्यों में चुनाव को देखते हुए केंद्र सरकार ने रोल बैक किया और कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा की। कांग्रेस छोड़कर भाजपा में गए नेताओं की वापसी के सवाल पर प्रीतम सिंह ने कहा कि राजनीति में दरवाजे कभी बंद नहीं होते। पार्टी छोड़कर गए नेताओं की वापसी के संबंध में कांग्रेस हाईकमान निर्णय करेगा। वार्ता के दौरान डा.संजय पालीवाल, महानगर कांग्रेस अध्यक्ष संजय अग्रवाल, राष्ट्रीय प्रवक्ता आलोक शर्मा, राजीव चैधरी, ग्रामीण कांग्रेस जिला अध्यक्ष धर्मपाल सिंह, डा.दिनेश पुण्डीर आदि मौजद रहे।