साध्वी तृप्ता सरस्वती और साध्वी सुखजीत सरस्वती ने पूर्व केंद्रीय मंत्री पर लगाया आरोप

इस खबर को सुनें

*दोनों साथियों ने अपने को बताया ब्रह्मलीन स्वामी सहज प्रकाश का उत्तराधिकारी*

खुद को ब्रहमलीन स्वामी सहज प्रकाश का उत्तराधिकारी बताते हुए साध्वी ने आरोपी लगाया कि कुछ लोग आश्रम की सम्पत्ति को खुर्द-बुर्द करने की साजिश रच रहे है। साध्वी ने पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए कहा कि उनको कुछ भी होता है तो उसके लिए स्वामी चिन्मयानन्द और तीन अन्य लोग होंगे जिम्मेदार। सोमवार को साध्वी तृप्ता सरस्वती एवं साध्वी सुखजीत सरस्वती ने प्रेस क्लब में पत्रकारों से वार्ता करते हुए खुद को पावन धाम आश्रम के ब्रह्मलीन स्वामी सहज प्रकाश महाराज की शिष्या बताते हुए कहा कि उनके गुरु ने उनके नाम पर की थी वसीयत, पर स्वामी चिन्मयानन्द संम्पति को खुर्दबुर्द करना चाहते, साध्वी ने स्वामी चिन्मयानन्द का धमकाने का ऑडियो भी होने का दावा करते हुए साध्वी तृप्ता सरस्वती वह ट्रस्ट की संपत्ति को बेचना खुर्द खुर्द करने जा रहे हैं हमने कई बार अपनी शिकायत सभी उच्च अधिकारी को की है लेकिन राजनीतिक दबाव होने के कारण हमारी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। स्वामी चिन्मयानंद कहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री सब मेरे प्रभाव हैं,हमारा कोई कुछ नही कर सकता। साध्वी ने कहा कि उन्हे न्यायिक कार्यो के लिए रोकने का प्रयास किया जा रहा है। आरोप लगाया कि ट्रस्ट की 36बीधा जमीन जो कि बादशाहपुर में है,को खुर्द-बुर्द करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होने दावा किया कि पावन धाम आश्रम के अलावा ट्रस्ट की जो भी संपत्ति है, उनको बिकने नहीं देंगे। चेतावनी दी कि अगर हमारी बात नहीं सुनी जाती तो हम प्रदर्शन पर बैठेंगे सच्चाई की लड़ाई लड़ेंगे।वही मामले में पूर्व केन्द्रीय मंत्री से सम्पर्क का प्रयास किया गया,लेकिन उनसे दूरभाष पर सम्पर्क नही हो पाया।