ताजा खबर: नागा सन्यासियों के सबसे बड़े आखाडे सहित विभिन्न राजनीतिक दलों, संस्थाओं, साधु-संतो ने बिपिन रावत और सैन्य कर्मियों के आकस्मिक निधन पर शोक जताया

इस खबर को सुनें

*जूना अखाड़े में जनरल विपिन रावत व सैन्यकर्मियों के आकस्मिक निधन पर विशेष शांति यज्ञ आयोजित
अखाड़ा परिषद की सरकार से मांग,भव्य स्मारक बनाया जाये*

नागा सन्यासियों के. सबसे बड़े अखाड़े श्रीपंच दशनाम जूना अखाड़े की पूरे देश में स्थित समस्त शाखाओं तथा प्रमुख मठों में अखाड़े के अन्र्तराष्ट्रीय संरक्षक श्रीमहंत हरिगिरि महाराज के निर्देश पर सीडीएस जनरल विपिन रावत तथा हैलीकाॅप्टर दुर्घटना में शहीद हुए सभी सैन्य अधिकारियों की आत्मा की शाति के लिए विशेष श्रद्वांजलि सभा तथा शांति यज्ञ आयोजित किए गये। हरिद्वार में पौराणिक सिद्वपीठ मायादेवी मन्दिर में श्रीमहंत हरिगिरि महाराज के सानिध्य में माॅ मायादेवी तथा नगर कोतवाल आनंद भैरव महाराज की विशेष पूजा अर्चना कर जनरल विपिन रावत तथा दिवंगत सभी सैन्य अधिकारियों को भावमीनी श्रद्वांजलि दी गई तथा उनकी आत्मा की शांति व उनके परिजनों को इस असीम दुःख को सहन करने की शक्ति प्रदान किए जाने की प्रार्थना की गई। श्रीमहंत हरिगिरि महाराज ने कहा इस दुख की घड़ी में पूरा संत समाज तथा अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद दिवंगत शहीदों के परिजनों व राष्ट्र के साथ दृढता से खड़ा है। उन्होने कहा अमर शहीद जनरल विपिन रावत उत्तरखण्ड के अनमोल रत्न थे जिन्होने अपनी चमक से पूरे विश्व में भारत का नाम रोशन कर दिया।उनके असमय निधन से पूरे राष्ट्र को शोक के सागर में डूबो दिया है। यह ऐसी क्षति है,जिससे उबरने में काफी समय लगेगा। उन्होने कहा जूना अखाड़ा तथा अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद उत्तराखण्ड सरकार से माॅग करता है कि जनरल विपिन रावत की स्मृति को चिर स्थायी बनाये रखने के लिए उत्तराखण्ड में उनका एक भव्य स्मारक बनाया जाये। उन्होने कहा यदि सरकार अखाड़ा परिषद को भूमि उपलब्ध कराती है तो अखाड़ा परिषद समस्त अखाड़ो और साधु-संतो के सहयोग से भव्य स्मारक बनायेगी। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष व निरंजनी अखाड़ा के राष्ट्रीय सचिव श्रीमहंत रविन्द्रपुरी ने कहा कि अखाड़े तथा संत समाज जनरल विपिन रावत की स्मृति में एक भव्य शहीद धाम बनाएगी,जिसे पूरे देश में पांचवी धाम की मान्यता प्राप्त होगी और उत्तराखण्ड के चारों पवित्र धामों की यात्रा के साथ साथ इस धाम के दर्शन के लिए भी यात्री आऐंगे।श्रीमहंत हरिगिरि महाराज ने कहा अखाड़ा परिषद केन्द्र सरकार से माॅग करती है कि इस दुर्घटना में शहीद हुये सैन्यकर्मियों के परिजनों को 50करोड़ की आर्थिक सहायता प्रदान की जाये। शुक्रवार को जूना अखाड़ा के साथ साथ श्रीमौजा गिरि मन्दिर प्रयागराज,बड़ा हनुमान घाट काशी,नीलगंगा उज्जैन,दातार अखाड़ा उज्जैन, दत्तात्रेय मन्दिर त्रयम्बकेश्वर, खैड़ामढ़ी बरेली, व हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखण्ड,महाराष्ट्र,गुजरात,उत्तर प्रदेश के अनेक स्थानों में स्थित सभी मढो,मन्दिरो ंमें विशेष पूजा अर्चना व शांत यज्ञ किए गए। जूना अखाड़ा हरिद्वार में आयोजित विशेष पूजा व शांति यज्ञ में अखाड़ा के अन्र्तराष्ट्रीय सभापति श्रीमहंत प्रेमगिरि,राष्ट्रीय सचिव श्रीमहंत महेशपुरी, कोठारी महंत महाकाल गिरि,थानापति रणधीर गिरि,श्रीमहंत संध्या गिरि,श्रीमहंत सुरेशानंद सरस्तवी, महंत राजेन्द्र गिरि,महंत धर्मेन्द्र पुरी,महंत गौतम गिरि,महंत हीराभारती,महंत वशिष्ठ गिरि, श्रीमहंत पूर्ण गिरि,महंत धीरेन्द्रपुरी आदि उपस्थित थे।

*गायत्री यज्ञ एवं गीता पाठ कर दी जनरल बिपिन रावत को श्रद्धांजलि*

गीता विज्ञान आश्रम के संतों एवं विद्यार्थियों ने गायत्री यज्ञ एवं गीता पाठ कर विमान हादसे का शिकार हुए सीडीएस जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नि व सैन्य अधिकारियों की आत्मशांति तथा भविष्य में ऐसी कोई दुर्घटना न घटे इसके लिए ईश्वर से प्रार्थना की। जनरल बिपिन रावत को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए श्रीगीता विज्ञान आश्रम के परमाध्यक्ष महामंडलेश्वर स्वामी विज्ञानानंद सरस्वती महाराज ने कहा कि सीडीएस जनरल बिपिन रावत उनकी पत्नि तथा विमान में उनके साथ सवार सैन्य अधिकारियों के साथ हुई दुर्घटना बेहद दुखह है। ईश्वर सभी को अपने श्रीचरणों में स्थान दे। स्वामी विज्ञानानंद सरस्वती महाराज ने कहा कि राष्ट्र और मानवता की रक्षा भगवान के बाद सेना के हाथ में होती है। सीडीएस के रूप में जनरल बिपिन रावत द्वारा किए गए सुधारों को देश सदैव याद रखेगा। सेना को देश की शान बताते हुए उन्होंने कहा कि राष्ट्र सेवा में कार्य करते हुए बलिदान देने वाला स्वर्ग को भी गौरवान्वित करता है। उन्होंने अंत में सभी संतो के साथ मौन धारण कर जनरल बिपिन रावत सहित सभी सैन्य अधिकारियों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की।


*जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रीय युवा केंद्र में श्रद्धांजलि सभा*

लाल नेहरू राष्ट्रीय युवा केंद्र ने श्रद्धांजलि सभा के माध्यम से भारत के प्रथम सीडीएस जनरल बिपिन रावत का भावपूर्ण स्मरण कर उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। नारायण दत्त तिवारी यूथ हॉस्टल के सभी पदाधिकारियों ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर भावभीनी श्रद्धांजलि देते हुए भारत के लिए अपूरणीय क्षति बताया। जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीय युवा केंद्र की अध्यक्ष दीपा जोशी ने श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए कहा कि भारत ने एक अनुभवी सैन्य अधिकारी खो दिया। जिससे देश को अपूर्णीय क्षति हुई है। व्यवस्था अधिकारी पंडित पदम प्रकाश शर्मा ने कहा कि जनरल बिपिन रावत का नाम भारत के महान सपूत थे। देश की रक्षा में उनका योगदान सदैव स्मरणीय रहेगा। जनरल बिपिन रावत के आकस्मिक निधन को भारतीय सेना व देश के लिए अपूर्णीय क्षति बताते हुए सचिव सुखबीर सिंह ने कहा कि किसी उच्चाधिकारी और योग्य राष्ट्रभक्त का असमय जाना देश की बहुत बड़ी हानि है। कोषाध्यक्ष सुभाष घई ने कहा कि रक्षा के क्षेत्र में उत्तराखंड के वीरों का सर्वाधिक योगदान रहा है और जनरल बिपिन रावत ने राज्य तथा देश दोनों का नाम ऊंचा किया। जितेंद्र अरोड़ा, विभोर चैधरी, कमलप्रीत कौर,इंद्रमोहन बड़थ्वाल,ललित तथा जाकिर हुसैन ने जनरल बिपिन रावत को श्रद्धांजलि दी।
फोटो नं.2-श्रद्धांजलि देते भाजयुमो कार्यकर्ता
महान योद्धा थे जनरल बिपिन रावत-विदित शर्मा
हरिद्वार। हैलीकाॅप्टर दुघर्टना में सीडीएस जनरल रावत, उनकी पत्नि व कई सैन्य अधिकारियों की दुखद मृत्यु पर शोक व्यक्त करते हुए भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने सभी को श्रद्धासुमन अर्पित किए। भूपतवाला स्थित राठी चैक पर श्रद्धांजलि देते हुए भाजयुमो के जिला महामंत्री विदित शर्मा ने कहा कि जनरल बिपिन रावत महान योद्धा थे। विमान हादसे में जनरल बिपिन रावत का निधन देश व प्रदेश के लिए बेहद दुखद है। विपिन रावत को उत्तराखण्ड से बेहद लगाव था। गंगा मैया से प्रार्थना है कि विमान हादसे का शिकार हुए जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नि व सैन्य अधिकारियों को अपने श्रीचरणों में स्थान दे। कबीर आश्रम के महंत भारत साधु समाज के जिला महामंत्री स्वामी प्रकाशानंद ने कहा कि बिपिन रावत सैकड़ों नौजवानों के प्रेरणा स्रोत थे। उनके जाने से युवाओं में दुख की लहर दौड़ गयी है। दीप्तानंद अवधूत आश्रम के महंत एवम भारत साधु समाज के सगठन मंत्री स्वामी दिव्यानंद ने कहा कि विपिन रावत का सन्तो के प्रति बहुत प्रेम था। उनके आकस्मिक निधन से संत समाज भी दुखी है। श्रद्धांजलि देने वालों में भाजयुमो मंडल महामंत्री अंकुश भाटिया, मंडल मीडिया प्रभारी विकल राठी, राम अवतार शर्मा, सन्नी गिरी, अनुपम त्यागी, रितेश वशिष्ठ, तरसेन महाजन, जगत चैधरी, सतनाम सिंह, सोनू शर्मा, मोहित रियाल, बाबू राजपूत, रवि शर्मा, ओम प्रकाश सहित सैकड़ों लोग मौजूद रहे।


*स्वतंत्रता सेनानी उत्तराधिकारी परिवार समिति ने दी शहीद सैन्य अधिकारियों को श्रद्धांजलि*

स्वतंत्रता सेनानी उत्तराधिकारी परिवार समिति ने जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नि मधुलिका रावत के साथ विमान हादसे का शिकार सभी सेना अधिकारियों के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। नगर निगम के निकट यूनियन भवन में आयोजित शोक सभा के दौरान  भारत के प्रथम चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ विपिन रावत, उनकी धर्मपत्नी मधुलिका रावत के साथ ब्रिगेडियर एलएस लिद्दर, लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह, विंग कमांडर पीएस चैहान, स्क्वेड्रन लीडर के सिंह, जेडब्ल्यूओ दास, प्रदीप ए, नायक गुरु सेवक सिंह, जितेन्द्र कुमार, लांस नायक विवेक कुमार, साईं तेजा और हवलदार सतपाल को भावपूर्ण श्रद्धांजलि देते हुए समिति के महासचिव जितेन्द्र रघुवंशी ने कहा कि जनरल बिपिन रावत असाधारण प्रतिभा के धनी, देश की आन-बान और शान थे। उनके व अन्य सैन्य अधिकारियों के विमान दुघर्टना में आकस्मिक निधक से देश को भारी क्षति हुई है। जिसे कभी पूरा नहीं किया जाएगा। कार्यकारी अध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार सैनी ने कहा कि जनरल बिपिन रावत देश के अनमोल रत्न थे। देश के प्रति उनकी कर्तव्यपरायता से प्रभावित होकर दुश्मन राष्ट्र भी उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैंै। देश के ऐसे सपूत का अचानक चले जाना बेहद दुखद है। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी भारत भूषण विद्यालंकार ने कहा कि जनरल बिपिन रावत शूरवीर व सच्चा राष्ट्र प्रहरी थे। उपाध्यक्ष मुरली मनोहर ने श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए कहा कि इस बेहद दुखद हादसे की निष्पक्ष व उच्च स्तरीय जांच किया जाना आवश्यक है। अशोक टंडन, राजन कौशिक जनरल बिपिन रावत को नमन करते हुए कहा कि विमान दुर्घटना की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए और जांच के निष्कर्षों को जनता के सामने भी लाया जाना चाहिए। मार्गदर्शक मंडल के सदस्य सुभाष घई, उपाध्यक्ष डा.विनोद उपाध्याय, डा.वेदप्रकाश आर्य, ललित कुमार चैहान रमेश कुमार, नरेंद्र कुमार वर्मा, वीरेन्द्र गहलौत, राजेन्द्र गहलोत, कैलाश वैष्णव, अशोक कुमार चैहान, सुभाष चन्द्र चैहान, जय प्रकाश आर्य, शिव कुमार, सुमित्रा देवी, गीता देवी ने भी श्रद्धासुमन अर्पित किए।


*महान सेनानायक व कुशल रणनीतिकार थे जनरल बिपिन रावत-कार्तिक कुमार*

किसान कांग्रेस के पूर्व प्रदेश महासचिव कार्तिक कुमार चेयरमैन के नेतृत्व में जगजीतपुर स्थित कार्यालय पर सीडीएस जनरल बिपिन रावत उनकी पत्नी मधुलिका रावत व साथ में शहीद हुए 11 सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। श्रद्धांजलि देते हुए कार्तिक कुमार चेयरमैन ने कहा कि विमान हादसे में सीडीएस सहित कई सैन्य अधिकारियों के निधन से पूरे भारत में शोक की लहर है। जनरल बिपिन रावत महान सेनानायक, कुशल रणनीतिकार थे। उनके नेतृत्व में सेना ने कई सैन्य अभियान को कुशलतापूर्वक अंजाम दिया। देश की सुरक्षा में उनका योगदान सदैव स्मरणीय रहेगा। सुनील दत्त शर्मा ने कहा जनरल बिपिन रावत युद्ध कौशल मे ंप्रवीण सैन्य अधिकारी थे। देश ने अपना एक वीर सपूत खो दिया है। जिला सचिव विकास सागर,सचिव जाहिद खान,नरेंद्र ठाकुर,लियाकत अली,रजत अग्रवाल, नीरज वालिया आदि ने भी श्रद्धांजलि अर्पित की।

*इलेक्ट्रोहोम्योपैथिक मेडिकल एसोसिएशन ने दी जनरल बिपिन रावत को श्रद्धांजली*

इलेक्ट्रोहोम्योपैथिक मेडिकल एसोसिएशन की और से शोक सभा का आयोजन कर चीफ आॅफ डिफेंस स्टाॅफ जनरल बिपिन सिंह रावत, उनकी धर्मपत्नी मधुलिका रावत व विमान हादसे में उनके साथ शहीद हुए 11 सैन्य अधिकारियों को भावपूर्ण श्रद्धांजलि अपिर्त की गयी। ज्वालापुर स्थित बालाजी इंस्टीट्यूट ऑफ अल्टरनेटिव मेडिकल साइंस के सभागार में आयोजित शोक सभा के दौरान विमान हादसे के सभी शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा.केपीएस चैहान ने कहा कि देश की सैन्य शक्ति का लोहा मनवाने वाले भारत मां के सपूतो के असमायिक निधन से देश को अपूर्णीय क्षति हुई है। जिसकी भरपाई होना असम्भव ही नहीं नामुमकिन है। इस दौरान डा.एमटी अंसारी, डा.सुनील अग्रवाल, डा.विक्रम सिंह चैहान, डा.गुलाम साबिर, डा.राशिद अब्बासी, डा.अशोक कुशवाहा, डा.चांद उस्मान, डा.वसीम अहमद, डा.आफाक अली, डा.बिजेंद्र सिंह कार्य, डा. अर्सलान, डा.संजय मेहता, डा.वीएल अलखानिया, डा.बीबी कुमार, हीना कुशवाहा,शमा परवीन,मंजुला होलकर, लक्ष्मी कुशवाहा, शिवांकी कल्याण, साहिल कश्यप ने भी श्रृद्धा सुमन अर्पित किए।