भारतीय वाल्मीकि धर्म समाज ने किया कुलपति के खिलाफ प्रदर्शन

इस खबर को सुनें

*विश्वविद्यालय से सफाई कर्मचारियों को हटाकर उनके भविष्य को अंधकार मे धकेला*

भारतीय वाल्मीकि धर्म समाज (भावाधस) ने गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के कुलपति के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।आरोप लगाया कि विवि में तैनात सफाई कर्मचारियों को हटाकर उनके भविष्य को अंधकार में धकेलने का काम किया गया है। शनिवार को गुरुकुल कांगड़ी विवि के प्रवेशद्वार पर भावाधस के प्रदेश सचिव वीर प्रिंस लोहट के साथ वाल्मीकि समाज के लोगों ने कुलपति के खिलाफ खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रोष जताया। प्रिंस लोहट ने कहा कि पूरे देश के अंदर गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय की साफ छवि को धूमिल किया गया है। आरोप लगाते हुए कहा कि कुलपति ने पिछले वर्ष सफाई के कार्य का ठेका एक निजी कंपनी को दे दिया। इसके बाद सफाई कर्मचारियों को गुरुकुल कांगड़ी विवि से हटा दिया गया। उक्त निजी कंपनी से ही लगातार आज तक सफाई का कार्य कराया जा रहा है। ऐसे में गुरुकुल में काम करने वाले सफाई कर्मचारियों के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हुआ। जिससे समस्त सफाई कर्मचारियों में भारी रोष व्याप्त है। प्रदर्शन करने वालों में संजय कुमार, संजीव कुमार, सोनू, रजत, बंटी, अनिल, राजन, रमेश, सतीश, सुरेंद्र, मंजू, जॉनी, सोनू कुमार, सुभाष, संजीव बाबा, आकाश कुमार, विपिन घावरी, अमित, राजेश, अशोक, चंदन, मनीष आदि शामिल रहे।