रामनगर बन रहा है मादक पदार्थों की बिक्री का गढ़

इस खबर को सुनें

जसपुर के दो स्मैक तस्कर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से 128 ग्राम स्मैक मिली है। आरोपितों का आपराधिक रिकार्ड पुलिस खंगाल रही है। रामनगर मादक पदार्थों की बिक्री का गढ़ बनता जा रहा है।

16 फरवरी को एसपी क्राइम जगदीश चंद्र ने लोगों के साथ बैठक कर नशा रोकने के लिए सुझाव मांगे थे। जिसे लेकर पुलिस ने सख्ती बरतनी शुरू की। शनिवार को कोतवाली में सीओ बलजीत भाकुनी ने बताया कि पुलिस ने रामनगर बॉर्डर हल्दुआ में चेकिंग के दौरान दो युवकों को संदिग्ध लगने पर रोका। उनके पास से पुलिस को अलग अलग  स्मैक मिली। दोनों आरोपितों को पकड़कर कोतवाली लाया गया। वजन कराने पर स्मैक 128 ग्राम मिली। पूछताछ में आरोपितों ने अपना नाम जिला उधमसिंहनगर थाना जसपुर नत्था सिंह निवासी परवेज पुत्र हनीफ व मो.अनस पुत्र अहमद बताया।

आरोपितों ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि वह स्मैक जसपुर से एक व्यक्ति से खरीदकर लाए हैं। स्मैक को उन्होंने रामनगर में कुछ लोगों को अलग अलग बेचना था। पुलिस ने तस्करी में प्रयुक्त बाइक को सीज कर दिया। आरोपितों को पुलिस कोर्ट में पेश करने की कार्रवाई कर रही है। सीओ ने बताया कि आरोपित पहले से ही मादक पदार्थों की बिक्री का काम करते हैं। कोतवाल अरुण सैनी ने बताया कि बरामद स्मैक की कीमत चार लाख रुपये आंकी गई है। जसपुर में जिस व्यक्ति से स्मैक खरीदी गई थी व रामनगर में जिन लोगों को डिलीवरी देनी थी। उनके नाम सामने आए हैं। जांच चल रही है(GS)