हरिद्वार जनपद में होली की तमाम खबरें यहां देखें !

इस खबर को सुनें


*वैदिक कालीन मिश्रपुर गांव में होली की होती है विधि विधान से पूजा*

हरिद्वार के मिस्सरपुर गांव में होली का पूजन गांव के लोगों ने बड़ी संख्या में विधि विधान के साथ किया। इस अवसर पर महिलाओं ने अपने पति ,बच्चों और घर के बुजुर्गों के साथ होली का पूजन किया। बच्चों को फलों और मखानो की माला पहनाई होलिका की अक्षत रोली से पूजा की, गुलाल चढ़ाया, रंग चढ़ाया, साड़ी चढ़ाई और घर में बने हुए आटे के मीठे पुड़े, मिठाई चढ़ाई,फल चढ़ाए और जो पूजा सामग्री और प्रसाद होलिका में चढ़ाया गया, उसे प्रसाद के रूप में ब्राह्मण और समाज के दलित कमजोर वर्गों को दान स्वरूप भेंट किया गया। होली सौहार्द का प्रतीक है। यह बात मिश्रपुर के गांव में जब लोग होलिका का पूजन करने आए तो सामने आई गांव के रहने वाले उपाध्याय एडवोकेट ने बताया कि होली का त्यौहार ऐसा है जिसमें सामाजिक समरसता होती है और समाज का हर वर्ग मिलजुल कर यह त्यौहार मनाता है। मिस्सरपुर गांव की रहने वाली मार्शल आर्ट की राष्ट्रीय कोच आरती सैनी ने सपरिवार होलिका की पूजा करते हुए कहा कि समाज के हर वर्गों का उनकी जरूरत के हिसाब से ध्यान रखा जाता है और दान पुण्य किया जाता है। गांव की रहने वाली एमबीए की छात्रा इशिका शर्मा ने बताया कि होली का त्यौहार सामाजिक समरसता का त्यौहार है और गांव के हर वर्ग को आपस में जोड़ता है। मिश्रपुर गांव वह गांव है जहां पर राजा दक्ष द्वारा कराए गए यज्ञ के समय दक्षिण भारत से आए कर्मकांडी वैदिक ब्राह्मण समुदाय ने निवास किया था और यहां पर कई वर्षों तक कई धार्मिक अनुष्ठान गंगा के पावन तट पर किए थे। उन्होंने राजा दक्ष का यज्ञ संपन्न कराया था यह गांव पौराणिक महत्व वाला है जिसकी गिनती वैदिक कालीन सभ्यता से पंच पुरियों में होती है।


*शिवलोक होली मिलन समिति ने हर्षोल्लास से मनाई होली*

शिवलोक होली मिलन समिति ने अपनी संस्कृति के अनुरूप होली मिलन कार्यक्रम करते हुए अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं हास्य कविता का आयोजन शिवलोक फेज 3 पार्क में किया। कार्यक्रम में सभी शिवलोक निवासी सपरिवार उपस्थित रहे। साथ ही होली के गीत गाकर फूलों से होली खेली।कार्यक्रम की शुरुआत समिति के अध्यक्ष दुर्गेश खन्ना एवं सचिव मुनीष गर्ग एवं समस्त सदस्यों ने दीप प्रज्वलन के साथ की। सूचना आयोग सचिव अरविंद पांडे एवं पुलिस उपाधीक्षक यातायात राकेश रावत अपने परिवार के साथ उपस्थित रहे। उनकी गरिमामई उपस्थिति में सभी शिवलोक निवासियों ने होली के चटपटे व्यंजनों का भी रसास्वादन किया और बाद में सह भोज में सम्मिलित हुए। सचिव मुनीष गर्ग ने बताया कि शिवलोक वासियों के अपने बच्चों की प्रतिभाओं को दिखाने का यह अनुपम मौका है। होली उत्सव समिति के सदस्य महेश शर्मा ने बताया ‘‘शिवलोक होली मिलन समिति एक ऐसा मंच है जहां सभी सपरिवार इकट्ठे हो फूलों की होली खेलते हैं और अपने ही साथियों के बच्चों को स्टेज पर परफॉर्म करते देखकर हर्षित होते हैं। इसी श्रृंखला में होली का महोत्सव धूमधाम से मनाया गया। बालिका अपूर्व एंजेल सहज बजाज आद्विक चैहान खुशी शर्मा और परी लगाने की नृत्य प्रस्तुतियों को सबने सराहा। जीवन को एक उत्सव की तरह जीने का अधिकार दे रही है। शिवलोक होली मिलन समिति जो अनेकों वर्षों से हर साल बृहद रूप से होली का कार्यक्रम करती है। कार्यक्रम में समिति के सदस्य महेश शर्मा,राजेश कुमार,एसके ग्रोवर, आशीष चैहान,राजीव शर्मा,लहर हरिया,प्रदीप कुमार,मनीष लखानी,अमित बजाज,संजय सोनकर,प्रकाश गुप्ता एवं नीरज का विशेष सहयोग रहा।

*होली के दौरान हुड़दंग करने वालों से सख्ती से निपटेगी पुलिस*

होली का त्यौहार शांतिपूर्वक सम्पन्न कराने के लिए जिले में सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। संवदेनशील क्षेत्रों के साथ साथ शहर क्षेत्र में चप्पे चप्पे पर पुलिस फोर्स तैनात रहेगी। जनपद के मिश्रित आबादी एवं पूर्व में होली के दिन हुए विवादों के मद्देनजर पुलिस फोर्स एहतियात बरत रहा है। डीआईजी ने निर्देश दिए है कि शराब के नशे में धुत होकर हुड़दंग करने वालों से भी पुलिस सख्ती से पेश आए। डीआईजी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने अधीनस्थों को हुड़दंग करने वालों के खिलाफ कोताही नही बरतने के निर्देश दिए हैं। कहा है कि होली पर्व को लेकर हरिद्वार पुलिस पूरी तरह से सतर्कता बरत रही है। असामाजिक और शरारती तत्वों से सख्ती से पेश आने को लेकर पुलिस ने कमर कस ली है। डीआईजी-एसएसपी ने बताया कि होली को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए प्लान तैयार किया गया है। शरारती तत्वों को चिह्नित कर लिया गया है,यदि कोई छोटी सी भी हरकत करेगा तो उससे पुलिस सख्ती से निपटेगी। राजपत्रित अफसरों को भी निर्देशित किया गया है कि वे अपने अपने क्षेत्र में पूरी तरह से अलर्ट रहे।

*संतों ने कैदियों के संग खेली फूलों की होली*

जिला जेल में गुरुवार को होली के अवसर पर विष्णु भक्त प्रह्लाद के पिता हिरण्यकश्यप के सजे दरबार संतों ने कैदियों के संग फूलों की होली खेली। इस असवर पर संतों ने प्रवचन भी दिए। रोशनाबाद में जिला जेल में होली के अवसर पर होलिका दहन नाटक का मंचन हुआ। जेल में बंद कैदियों ने हिरण्यकश्प, प्रह्लाद, होलिका, भगवान विष्णु समेत अन्य पात्र के रूप में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। मुख्य अतिथि के तौर पर पहुंचे अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष व निंरजनी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रविंद्रपुरी ने कहा कि जेल में इस तरह के रचनात्मक कार्य सराहनीय है। इस तरह के कार्यक्रमों से कैदियों के व्यवहार में सुधार आता है। होलिका मंचन के नाटक के साथ कुमाऊंनी व गढ़वाली लोकगीत भी कैदियों ने प्रस्तुत किए। इस दौरान जेल अधीक्षक मनोज आर्य, जेल डिप्टी विकास चंद्र, सोरण सिंह, चीफ फार्मासिस्टम राकेश गैरोला आदि मौजूद रहे।


*बुराई पर अच्छाई की जीत का पर्व है होली*-नितिन यादव

भूपतवाला स्थित शिवनगर कालोनी में धूमधाम से होली मनायी गयी। महिलाओं ने पूर्ण विधि विधान से होलिका का पूजन कर परिवारों के लिए मंगल कामना की। पूजन के पश्चात रात्रि में शुभमुर्हत के अनुसार होलिका दहन किया गया। इस दौरान सभी को होली की शुभकामनाएं देते हुए समाजसेवी नितिन यादव यदुवंशी ने कहा कि फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाने वाला होली पर्व हिंदू धर्म का सबसे महत्वपूर्ण पर्व है। होली बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक भी है। होली प्रेम, एकता व भाईचारे का संदेश भी देती है। रंगों उमंगों का यह पर्व छोटे, बड़े, ऊंच नीच आदि का भेद समाप्त कर सभी को एक कर देता है। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि होली पर अनावश्यक हुड़दंग करने बचें। प्रेम व सादगी से होली मनाएं। सिंथेटिक रंगों के बजाए प्राकृतिक रंगों का उपयोग करें।


*टीम जीवन फाउंडेशन परिवार ने किया होली मिलन समारोह का आयोजन*

टीम जीवन फाउंडेशन परिवार की और से आयोजित होली मिलन समारोह में टीम के सदस्यों ने एक दूसरे से फूलों की होली खेली और एक दूसरे को शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर टीम जीवन के संस्थापक व नगर निगम के पूर्व मेयर मनोज गर्ग ने सभी को होली की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि सामाजिक समरसता का संदेश देने वाला पर्व है। होली के रंग एकजुट रहकर सुख दुख में साथ रहने की प्रेरणा देते हैं। उन्होंने कहा कि प्रेम व भाईचारे से होली मनाएं। संस्था के महामंत्री सीए अनमोल गर्ग ने बताया कि कोरोना काल में टीम जीवन के सदस्यों ने लगातार जनहित में सेवाएं प्रदान की। होली मिलन में टीम के सभी सदस्यों ने एक दूसरे को रंग लगाकर समाज सेवा के लिए सदैव तत्पर रहने के संकल्प को दोहराया। कार्यक्रम में अभिनंदन गुप्ता, अंकुर पालीवाल, प्रतीक गुप्ता, दीपक बंसल, राहुल गुप्ता,नमित गोयल,अमन अरोड़ा,श्याम अरोड़ा,सुमित शर्मा,कमलकांत शर्मा,संदीप सैनी,राजीव जोशी,अरविंद राठौर,दीपक उपाध्याय,सचिन कुशवाहा, सचिन गांधी,निक्की शर्मा,रूपांगी ब्राह्मभट्ट, दीपिका संगतानी,आरती मेहता,नीरा कौशिक,सरिता यादव, कामिनी सड़ाना, कृष्णा कौशिक,वैभव कौशिक,रवि जैसेल,सतीश सेंथवाल,सनी पवार्, तनुज महेश्वरी,आशीष मेहता, विपिन गुप्ता,विक्की तनेजा,कविश मित्तल,अंकित शर्मा, हितेश अग्रवाल,डा अजय अग्रवाल, अशोक अग्रवाल, विमल गर्ग,डा.आशीष त्यागी,डा.अमान गुप्ता,डा.आदेश आदि उपस्थित रहे।

*सामाजिक ताने बाने को मजबूत करता है होली पर्व*-डा.अखिलेश सिंह

आर्यव्रत हॉस्पिटल के संचालक डा.अखिलेश सिंह कहा कि होली प्रेम और भाईचारे के साथ-साथ सामाजिक ताने-बाने को मजबूत करने वाला एक खूबसूरत त्यौहार है। जिसका हम सबको दिल खोलकर स्वागत करना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज जिस तरह से समाज और परिवार में, राजनीति और सियासत में भरोसे और सेवा भाव की कमी होती जा रही है और लोग निजी स्वार्थ और हितों के लिए समाज में विघटन पैदा कर रहे हैं। ऐसे में होली के रंग और होली का त्योहार एक मौका है। जब हम अपनी भारतीय संस्कृति और परंपरा को याद करते हुए अखंड भारत और समृद्ध समाज की नींव रखने के लिए आगे बढ़ सकते हैं। डा.सुचित्रा सिंह सभी को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि होली का त्यौहार आंतरिक पवित्रता का भी संदेश देता है। यदि हम उसे अपने जीवन में उतारेंगे तो होली के रंगों की तरह हम अपने जीवन को भी रंगों से जोड़कर अमित और पावन बना सकते हैं। होली का पर्व खुशी और भाईचारे का संदेश लेकर आता है। डा.सुचित्रा सिंह ने कहा कि प्यार भरे रंगों से सजा यह पर्व धर्म संप्रदाय जाति के बंधन खोलकर भाईचारे का संदेश देता है। रंगो की होली मनाते समय भाईचारा कायम रखें आपस में मिलजुल कर प्रेम से होली मनाएं।


*सभी को उल्लसित कर देते हैं होली के रंग*-महंत रविपुरी

प्राचीन हनुमान मंदिर में आयोजित होली मिलन कार्यक्रम में श्रद्धालु भक्तों ने महंत रविपुरी के सानिध्य में पारंपरिक उल्लास के साथ होली मनायी। इस दौरान भगवान शंकर एवं माता पार्वती, महाकाली की वेशभूषा में कलाकारो ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। राधा कृष्ण की वेषभूषा में सजे कलाकरों के साथ श्रद्धालुओं ने फूलों की होली और धार्मिक गीतों की धुनकर जमकर थिरके। इस अवसर पर होली की शुभकामनाएं देते हुए महंत रवि पुरी ने कहा कि रंगों से सजा सनातन संस्कृति का प्रमुख पर्व होली सभी को उल्लसित कर देता है। होली के उल्लास से भगवान भी बच नहीं पाए। भगवान श्रीकृष्ण भी अपने भक्तों के साथ होली खेलते थे। उन्होंने कहा कि पाश्चात्य संस्कृति से बचते हुए सनातन संस्कृति के अनुरूप होली मनाएं और सभी को प्रेम का संदेश दें। यही होली पर्व की सार्थकता है। इस अवसर पर अंकित पुरी,पुष्पेंद्र शर्मा,अंकित पटेल,बाल मुकुंद शर्मा, बिपिन धस्माना,राहुल कुमार,पीयूष जाटव, गगन शोडी, अंकुर गोयल, बीना शर्मा, पंबल शर्मा, गरिमा शर्मा,कोमल शर्मा, ऋषि सिंह, विनीत भारद्वाज, पंकज शर्मा,नीरज कुमार,अमित गुप्ता, सुरभि गुप्ता आदि मौजूद रहे।


*अंतर्राष्ट्रीय हिन्दू महासभा ने मनायी होली*

अंतर्राष्ट्रीय हिन्दू महासभा की और से शिवालिक नगर स्थित होटल त्रिशूल ग्रेंड में आयोजित होली मिलन एवं सम्मान समारोह कार्यक्रम में मुख्य अतिथी रानीपुर विधायक आदेश चैहान, महासभा के संरक्षक स्वामी सत्यव्रतानन्द सरस्वती, मेयर अनिता शर्मा, शिवालिकनगर नगर पालिका अध्यक्ष राजीव शर्मा ने सभी को होली की शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम में संस्था की और से सभी अतिथीयों, पुलिस प्रशासन के अधिकारियों, पत्रकार व समाजसेवियों को सम्मानित किया गया। विधायक आदेश चैहान ने कहा कि होली बुराई पर अच्छाई की विजय एवं प्रेम का प्रतीक पर्व है। होली समाज में व्याप्त बुराईयों व कुरीतियों को समाप्त करने का संदेश भी देती है। रंगों उमंगों के इस पर्व पर सभी को बुराईयों व कुरीतियों को दूर करने का संकल्प लेना चाहिए। अंतर्राष्ट्रीय हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मोहित नवानी ने कहा कि इस होली पर्व पर भारतीय परंपराओं का पालन करते हुए एक आदर्श समाज स्थापित करने का संकल्प लें। कार्यक्रम में मुख्य रूप से राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनिल शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष उत्तराखंड अवनीश कौशिक, प्रदेश उपाध्यक्ष आशुतोष चैहान, जिला अध्यक्ष अमित भट्ट, सुधीर चैहान, नवीन भट्ट, सुरेन्द्र सैनी, सोनम वशिष्ठ, सरिता मिश्रा, आशा शर्मा, संजय शर्मा, हिमांशु राजपूत, अजय सिंह, उदित पांडेय, संगीता गिरी आदि गणमान्य लोग उपस्थित रहे।


*डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन ने मनायी होली*

हरिद्वार डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन की और से चंद्राचार्य चैक स्थित होटल में होली मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेंद्र भटेजा ने एसोसिएशन के पदाधिकारियों व सदस्यों को होली की बधाई देते हुए कहा कि एसोसिएशन हमेशा व्यापारियों के हितों की रक्षा करती आई है। व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं। डिस्ट्रीब्यूटर एसोसिएशन सामाजिक कार्यों में भी अपना योगदान दे रहा है। महामंत्री संदीप वैष्णव ने कहा कि डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन सभी व्यापारियों को साथ लेकर चलती है। व्यापारी हित के लिए एसोसिएशन हमेशा संघर्षशील रही है। शासन प्रशासन के अधिकारियों से समन्वय कर व्यापारियों की सममस्याओं का समाधान कराया जा रहा है। इस अवसर पर मनोज अग्रवाल,तरुण भाटिया,सुनील अरोड़ा,राजकुमार अरोड़ा,वीरेंद्र चड्ढा,रुपेश गोयल,अतुल गोयल,अशोक अरोड़ा,नागेंद्र सिंह, अभिषेक, दीपक कंसल, सुभाष, संजय बजाज, गौरव गाबा, अमित अरोड़ा,कैलाश झाम,प्रभास कंसल,दीपक सेठी,संजय खुराना आदि व्यापारी उपस्थित रहे।


होलिका दहन पर हनुमानगढ़ी मंदिर में किया गया ध्वजारोहण
हरिद्वार। प्राचीन काल से चली आ रही परंपरा का निर्वहन करते हुए होलिका दहन के अवसर पर कनखल स्थित प्राचीन श्री हनुमान गढ़ी मंदिर में परंपरा अनुसार भगवान हनुमान को चोला चढ़ाया गया और मंदिर के शिखर पर ध्वजा स्थापित की गई। इस अवसर पर मंदिर के प्रधान अर्चक डा.आनंद बल्लभ जोशी ने बताया कि हनुमान गढ़ी मंदिर का इतिहास 17वीं शताब्दी से पूर्व का है। यह मंदिर 108 मौनी बाबा एवं पंडित नारायण दत्त शास्त्री की साधना स्थली रही है। प्रत्येक वर्ष मंदिर में चार बार रामनवमी, जन्माष्टमी, दीपावली, व होली पर धर्म ध्वजा की स्थापना की जाती है। इसके साथ ही भगवान हनुमान का संपूर्ण श्रृंगार किया जाता है। परंपरा का निर्वहन करते हुए इस वर्ष भी कोरोना काल के बाद बड़ी धूमधाम से भक्तों द्वारा मंदिर को सजाया गया और विधि विधान से भगवान हनुमान का चोला श्रृंगार और ध्वजा स्थापना के साथ पूजन कार्य संपन्न किया गया। इस दौरान पंडित गजाधर शास्त्री, पंडित विपिन चंद्र भट्ट तथा बड़ी संख्या में श्रद्धालुजन मौजूद रहे।


होली पर करें कोरोना नियमों का पालन-पंकज माटा
हरिद्वार। देव गंगा व्यापार मण्डल के व्यापारियों ने खन्नानगर में उत्साह पूर्वक होली मिलन समारोह का आयोजन कर एक दूसरे को रंग लगाकर होली की शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर व्यापार मण्डल के महामंत्री पंकज माटा ने सभी को होली की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक होली पर्व भारतीय संस्कृति का सबसे अहम पर्व है। बड़े, बच्चे, अमीर, गरीब सभी उल्लास पूर्वक होली पर्व को मनाते हैं। एकता व भाईचारे का संदेश देने वाला होली पर्व आपस सभी दूरियों को समाप्त कर समाज को एकजुट करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि रंगों के इस पर्व को शांतिपूर्ण तरीके से मनाएं। होली खेलते समय हर्बल रंगों का ही उपयोग करें। पंकज माटा ने कहा कि कोरोना महामारी सामने आने के दो वर्ष बाद उल्लास से होली मनायी जा रही है। लेकिन कोरोना अभी समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए होली खेलते समय कोरोना के प्रति सावधनी बरतनी आवश्यक है। सभी को होली में कोरोना नियमों का पालन करना चाहिए और महामारी से बचाव के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे प्रत्यनों में सहयोग करना चाहिए। इस अवसर पर राजेंद्र ठाकुर,नरेंद्र दुमड़ा,अभितेष गुप्ता,अमित, वंदना गुप्ता, गौरव यादव, आशीष चैधरी, विक्की गोयल, कपिल आदि मौजूद रहे।


प्रेम और समरसता का पर्व है होली- श्रीमहंत रविंद्रपुरी
हरिद्वार। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने कहा कि होली प्रेम और समरसता का पर्व है। होली के रंग हमें एक दूसरे से मिलजुल कर रहने का संदेश देते हैं। रंगों के पर्व होली की शुभकामनाएं देते हुए मां मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष व निरंजनी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने कहा कि होली का पर्व प्रति वर्ष चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा को मनाया जाता है। होली से ही बसंत ऋतु का आगमन हो जाता है। श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने कहा कि पुराणों के अनुसार प्राचीन समय में हिरण्यकश्यप नामक एक असुर भगवान विष्णु का कट्टर शत्रु था, लेकिन उसका पुत्र प्रह्लाद भगवान विष्णु का सबसे बड़ा भक्त था। हिरण्यकश्यप ने उसे मारने की योजना बनाई और अपनी बहन होलिका जिसे आग में ना जलने का वरदान प्राप्त था, उसके साथ मिलकर प्रह्लाद को मारने का निश्चय किया। होलिका प्रह्लाद के साथ अग्नि में बैठ गई। लेकिन आग की लपटों से झुलस होलिका की ही मृत्यु हो गई और प्रह्लाद बच गए। होली के पर्व से जुड़ी यह पौराणिक कथा हमें यह सिखाती है कि दुष्ट कितना भी शक्तिशाली हो उसका सर्वनाश होता है और भगवान के भक्तों की रक्षा स्वयं भगवान करते हैं।


चंद्राचार्य चैक व्यापार मण्डल के व्यापारियों ने खेली फूलों की होली
हरिद्वार। चंद्राचार्य चैक व्यापार मण्डल की और से आयोजित किए गए होली मिलन कार्यक्रम में व्यापारियों ने एक दूसरे से फूलों की होली खेली और पर्व की शुभकामनाएं दी। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक व मेयर अनिता शर्मा ने व्यापारियों व नगरवासियों को होली की शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम के दौरान होली की बधाई देते हुए व्यापार मण्डल अध्यक्ष मृदुल कौशिक ने कहा कि कोरोना काल में बेहद परेशानी का सामना करने के बावजूद अपनी और से सेवा कार्यो का संचालन करने के साथ पुलिस व प्रशासन को भी सहयोग दिया। महामारी के चलते दो वर्ष बाद व्यापारी व आमजन उत्साह से होली मना रहे हैं। उत्साह व उमंग के साथ रंगों का पर्व मनाएं और अपनी खुशीयों में दूसरों को भी शामिल कर आपसी एकता को मजबूत करें। व्यापारी नेता संजीव नैय्यर, सुरेश गुलाटी, डा.विशाल गर्ग ने सभी को होली की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि भारतीय संस्कृति पर्वो का गुलदस्ता है। सभी को सौहार्द एकता एवं भाईचारे का संदेश होली पर्व पर देना चाहिए। हिन्दू संस्कृति की पहचान त्यौहारों से है। सादगी के साथ सभी व्यापारियों को मिलजुल कर होली मनानी चाहिए। सुनील गुलाटी व अनूप सिंह सिद्धू ने होली की बधाई देते हुए कहा कि संगठित होकर ही पर्वो की महत्ता को दर्शाया जा सकता है। व्यापारी सदैव ही पर्वो को हर्षोल्लास व उत्साह के साथ मनाता चला आ रहा है। मां गंगा के आशीर्वाद से कोरोना महामारी से मुक्ति हुई है। इस अवसर पर कैलाश कैशवानी, विवेक अग्रवाल, धर्मेन्द्र विश्नोई, कमल ब्रजवासी, दीपक, सुनील, आशीष, प्रेम थापर, ब्रजराज, आकाश ओहरी,सचिन, तरूण,नितिन शर्मा,मुनीश गर्ग, राहुल,विक्रम सिंह सिद्धू, सुधीर गुप्ता आदि सहित बड़ी संख्या में व्यापारी मौजूद रहे।


निर्मल अखाड़े मंें संतों ने खेली फूलों की होली
हरिद्वार। कनखल स्थित श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल में होली पर्व पर संत समाज ने फूलों की होली खेली। इस दौरान संतो ने एक दूसरे पर पुष्पवर्षा कर होली की बधाई देते हुए विश्व कल्याण की कामना की। कार्यक्रम में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष एवं श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी के सचिव श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने सभी को होली शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्यार भरे रंगों से सजा होली पर्व धर्म, संप्रदाय एवं जाति के बंधन खोलकर समाज को एकता भाईचारे का संदेश देता है। बुराई पर अच्छाई की जीत का यह पर्व समस्त देशवासियों के जीवन में खुशहाली लाएं यही संत समाज की कामना है। श्री जयराम आश्रम के पीठाधीश्वर स्वामी ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी महाराज ने कहा कि होली का पर्व शांति एवं प्रेम एकता तथा भाईचारे का संदेश देता है। होली पर्व भारतीय संस्कृति की अद्भूत पहचान है। युवाओं को संदेश देते हुए उन्होंने कहा कि नशे का परित्याग कर भारतीय संस्कृति व परंपराओं के अनुरूप ही होली मनाएं। श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल के कोठारी महंत जसविंदर सिंह महाराज ने कहा कि राक्षस कुल में जन्म लेने के बाद भी भक्त प्रल्हाद ने भगवान विष्णु की भक्ति नहीं छोड़ी और अंत में स्वयं श्रीहरि ने दर्शन देकर भक्त प्रल्हाद की रक्षा की। होली पर्व पर सभी को ईष्र्या द्वेष भावना का त्याग कर समाज को समरसता का संदेश देना चाहिए।स्वामी रविदेव शास्त्री, महंत निर्मलदास एवं महामंडलेश्वर स्वामी ललितानंद गिरि महाराज ने कहा कि होली पर्व एकता और प्रेम का प्रतीक है। जो भारत ही नहीं पूरे विश्व में मनाया जाता है। होली खेलते समय प्रत्येक व्यक्ति को अपने परिवेश के प्रति जागरूक रहना चाहिए और यह ध्यान रखना चाहिए कि होली के दौरान प्रयोग होने वाले रंगों से किसी को भी किसी प्रकार का नुकसान ना पहुंचे। होली पर सभी को संकल्प लेना चाहिए कि किसी भी प्रकार का अनैतिक कार्य ना करें और सभी लोग प्रेम और सद्भावना के साथ मिलजुल कर एक सशक्त समाज का निर्माण करें। महंत अमनदीप एवं महंत ज्ञानी खेम सिंह महाराज ने कार्यक्रम में शामिल सभी संतों का फूल माला पहनाकर व चंदन का तिलक लगाकर स्वागत किया। इस दौरान महंत गोविंददास,महंत रघुवीर दास,महंत बिहारी शरण,महामण्डलेश्वर स्वामी संतोषानंद, महंत सूरजदास, महंत प्रह्लाद दास, महंत रामानंद सरस्वती, स्वामी हरिवल्लभ दास शास्त्री,स्वामी ऋषिश्वरानन्द,महंत दिनेश दास सहित बड़ी संख्या में संतगण उपस्थित रहे।