समाजवाद के प्रखर चिंतक स्व श्री राम मनोहर लोहिया को याद किया

इस खबर को सुनें

आज सामाजवादी पार्टी कार्यालय पर समाजवाद के प्रखर चिंतक स्व0 श्री राम मनोहर लोहिया जी की 112 वीं जयंती के अवसर पर गोष्ठी का आयोजन किया गया।समाजवादी पार्टी के महानगर अध्यक्ष सुमित तिवारी ने कहा कि स्व0 राम मनोहर लोहिया जी समाजवाद के प्रखर प्रहरी रहे।उन्होंने कहा वो लोहिया ही थे जो राजनीति की गंदी गली में भी शुद्ध आचरण की बात करते थे। वे एकमात्र ऐसे राजनेता थे जिन्होंने अपनी पार्टी की ही सरकार से खुलेआम त्यागपत्र की मांग की, क्योंकि उस सरकार के शासन में आंदोलनकारियों पर गोलीयां चलाई गई थी।
हिंदुस्तान की राजनीति में तब सफाई और भलाई आएगी जब किसी पार्टी के खराब काम की निंदा उसी पार्टी के लोग करेंगें और लोहिया जी कहा करते थे कि मै यह याद दिला दूं कि मुझे यह कहने का हक है कि हम ही हिंदुस्तान में एक राजनीतिक पार्टी हैं जिन्होंने अपनी सरकार की भी निंदा की थी और सिर्फ निंदा ही नहीं की बल्कि एक मायने में उसको इतना तंग किया कि उसे हट जाना पडा़।प्रदेश महासचिव डॉ0 राजेश पराशर और युवा वाहिनी के राष्ट्रीय सचिव लव दत्त ने कहा कि वह जातिवादी के विरोधी थे वह समानता के भाव के साथ बिना भेदभाव के सबको साथ लेकर चलने में विश्वास रखते थे।समाजवादी पार्टी के नेता अशरफ अब्बासी व लोहिया वाहिनी के सचिव श्रावण शंखधर ने कहा कि आज भी समाजवाद की विचारधारा से अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति को लाभ पहुँचाया जा सकता है समाजवाद की इस विचारधारा को जन जन तक पहुचाने का कार्य समाजवादी पार्टी द्वारा किया जायेगा।

पार्टी अध्यक्ष सुमित तिवारी ने सभी पदाधिकारियों के साथ शहीद भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव को भी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई।इस अवसर पर कार्तिक शर्मा, चौधरी जी, सलमान, राहुल, पंकज शर्मा, तरुण शर्मा, नितिन यादव, संजय कुमार आदि लोग उपस्थित थे।