महावीर दिगंबर जैन मंदिर में दशलक्षण महापर्व का शुभारंभ

इस खबर को सुनें

हरिद्वार। सेक्टर-2 बैरियर के समीप स्थित श्री महावीर दिगंबर जैन मंदिर में 10 दिनों तक चलने वाले दशलक्षण महापर्व का शुभारंभ किया गया। जिसमें जैन समाज के लोगों ने विशेष पूजा अर्चना कर विश्व कल्याण की कामना की। इस अवसर पर श्रद्धालु भक्तों को संबोधित करते हुए ब्रह्मचारिणी आभा दीदी ने कहा कि दशलक्षण महापर्व जीवन में नई चेतना और उत्साह का संचार करता है। अपनी आत्मा को पवित्र बनाने का यह मूल समय है। हम सभी को अपनी आत्मा का परमात्मा से साक्षात्कार करवाते हुए अपने जीवन के मूल तत्वों का ज्ञान होना आवश्यक है। जीवन ईश्वर का वरदान है और हमें इसे ईश्वर के लिए ही समर्पित करना चाहिए। पर्वाधीराज पर्यूषण पर्व के दौरान सभी को विशेष नियमों का पालन करना चाहिए और अपने अंतर करण को शुद्ध करते हुए परमात्मा की प्राप्ति के साधनों को प्राप्त करना चाहिए। ईश्वर इस प्रकृति के कण-कण में विराजमान है और भक्तों की सूक्ष्म प्रार्थना से ही प्रसन्न होकर उन्हें मनवांछित फल प्रदान करते हैं। भारतीय जनता पार्टी के जिला सचिव ओमकार जैन ने कहा कि आचार्य विशुद्ध सागर महाराज के पावन वर्षा योग दशलक्षण महापर्व के दौरान हमें अपने भीतर एक नई ऊर्जा का संचार करते हुए अहम का परित्याग करना चाहिए। जैन समाज देश को उन्नति की ओर अग्रसर करने में अपनी अहम भूमिका निभाता चला आ रहा है। शांति और सद्भावना हमारे जीवन का मूल उद्देश्य है। धर्म के मार्ग पर चलकर ही ईश्वर की प्राप्ति की जा सकती है। बालेश चंद्र जैन ने कहा कि यदि व्यक्ति को परमात्मा की शरण में पहुंचना है तो उसे त्याग और तपस्या को अपनाना होगा। ईश्वर अति सूक्ष्म और निराकार है। जिनकी पहचान करना ही मानव जीवन का उद्देश्य है। हम सभी को दशलक्षण महापर्व के दौरान अपने जीवन को पवित्र बनाना चाहिए और सभी को मानवता का संदेश देते हुए समाज में एकता और भाईचारे को संतुलित बनाना चाहिए। इस दौरान सतीश चंद्र जैन, विजय कुमार जैन,संदीप कुमार जैन,रजनीश जैन,अमित जैन,राकेश कुमार जैन,सुरेश चंद जैन, जेसी जैन,यूसी जैन,इंदु जैन,सुशीला जैन,मीनाक्षी जैन,प्रतीक्षा जैन,रजनी जैन सहित कई श्रद्धालु उपस्थित रहे।