मानवाधिकार उसी को प्राप्त होते है जो अपने कर्तव्यों के प्रति निष्ठावान होता है-नरेश बंसल

इस खबर को सुनें

मानव अधिकार को लेकर बहुत सारे प्रसंग वेदों मे

हरिद्वार। राष्ट्रीय मानव अधिकार संरक्षण समिति ट्रस्ट के तत्वावधान में प्राचीन भारतीय इतिहास संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग के सभागार में विश्व मानवाधिकार दिवस के उपलक्ष्य में भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राज्यसभा सांसद नरेश बंसल ने कहा कि मानव अधिकार उसी को प्राप्त होते है जो अपने कर्तव्यों के प्रति निष्ठावान होता है। मानव अधिकार व्यक्ति को विधि विधान के अन्दर जीना सिखाते हैं। विश्व स्तर पर मानवाधिकार का महत्व अत्यधिक है। मानवाधिकार एक स्वतंत्र विधि पाठशाला का कार्य बन गया है जिसे लोग अपने अधिकार के लिए प्रयोग करने लगे हैं। उन्होंने नई शिक्षा नीति के अन्तर्गत वैदिक शिक्षा प्रणाली को वर्तमान दौर में लागू करने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा कदम उठाए गए है। गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 सोमदेव शतांशु ने कहा कि मानव अधिकार को लेकर बहुत सारे प्रसंग वेदों में दिए गए है। वेदों के अनुसार मानव अधिकार का उल्लेख किया जाए तो वैदिक संस्कृति का प्रचार-प्रसार होगा। वैदिक संस्कृति पर वर्तमान युग में नए-नए पाठ्यक्रम तैयार कराए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि गुरुकुल कांगड़ी समविश्वविद्यालय में मानव अधिकार संरक्षण समिति द्वारा वैदिक पत्रिका का प्रकाशन अवश्य किया जाए जिससे स्वामी दयानन्द सरस्वती की वैदिक पताका का प्रचार-प्रसार हो सके। रानीपुर विधानसभा के विधायक आदेश चौहान ने कहा कि मानव अधिकार संरक्षण समिति प्रत्येक वर्ष विश्व मानवाधिकार दिवस मनाती है। उन्होंने समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष इंजी0 मधुसूदन आर्य के क्रियाकलापों पर जोर देते हुए कहा कि सीनियर सिटीजन होने के पश्चात भी मधुसूदन आर्य लगातार सामाजिक कार्यो में संलग्न रहते है और अपने जीवन की कतई परवाह नहीं करते। निरंजनी अखाड़े के महंत रतन गिरि ने कहा कि समिति लगातार सामाजिक कार्य कर रही है, जिससे लोगों को जागरूकता देखने को मिल रही है। जागरूकता देखने से यह लाभ लोगों को प्राप्त हो रहा है। चलती फिरती जिन्दगी में वह अपने अधिकारों का सही मायने में उपभोग कर सकें। गुरुकुल कांगड़ी समविश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो0 सुनील कुमार ने कहा कि विश्व में शांति आ सकती है जिसको केवल भारत ही दे सकता है। भारत देश के पास संस्कृति और संस्कार दोनों ही विद्यमान है। संस्कृति पर ध्यान देने से विश्व में मानव अधिकार का वैदिक संरक्षण हो सकता है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए समिति के राष्ट्रीय ईजी. मधुसूदन आर्य ने अध्यक्षीय संबोधन में कहा कि वर्तमान समय में अपने अधिकारों व कर्तव्यों के प्रति समाज में जागरूकता के उद्देश्य को पूर्ण करने की दिशा में संगठन निरंतर अग्रसर है। कार्यक्रम का संचालन विमल कुमार गर्ग ने किया। कार्यक्रम में अनन्या भटनागर के ग्रुप द्वारा स्वागत गान गाया गया। इस अवसर पर जगदीश लाल पाहवा,डा0 विशाल गर्ग, जितेन्द्र कुमार शर्मा, क्रान्तिकारी शालू सैनी आदि ने संबोधित किया। प्रो0 डी0एस0 मलिक,प्रो0 सुनील कुमार, डा0मोना शर्मा,प्रमोद कुमार,हेमन्त सिंह नेगी,डा0पंकज कौशिक,कुलभूषण शर्मा,रेखा नेगी,राधिका नागरथ,अधीर कौशिक,अध्यक्ष गंगा सभा प्रदीप झा, चंचल कौशिक,ललित मिगलानी,मुदित अग्रवाल,निधि जैन,पार्षद नागेन्द्र राणा,प्रो0मनुदेव बन्धु,सुनील दत्त कौठारी,चंचल कौशिक,मंगेश शर्मा,ईश्वर चन्द्र अग्रवाल, धनप्रकाश गोयल,सुनील कुमार अग्रवाल,सीमा सचदेवा,रूद्रांश, दिशी गर्ग, अंजली माहेश्वरी आदि सम्मानित किए गए।
साथ में फोटो नम्बर 10
शांतिकुंज में राष्ट्रीय सक्रिय कार्यकर्त्ता शिविर का तीसरा दिन
इक्कीसवीं सदी नारी सदी: शैफाली पण्ड्या
हरिद्वार। गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में चल रहे राष्ट्रीय सक्रिय कार्यकर्त्ता शिविर के सातवें सत्र को संबोधित करते हुए गायत्री विद्यापीठ प्रबंध समिति की प्रमुख श्रीमती शेफाली पण्ड्या ने कहा कि इक्कीसवीं सदी नारी सदी होगी। जिसकी शुरुआत गायत्री परिवार के संस्थापक युगऋषि पूज्य पं श्रीराम शर्मा आचार्य जी ने दशकों पहले कर दिया था। उन्होंने तब अबला मानी जाने वाली नारियों को गायत्री महामंत्र की दीक्षा देकर जप, तप करने के लिए प्रेरित और प्रशिक्षित किया। यज्ञ,संस्कार जैसे वैदिक विधानों के संचालन का अधिकार दिया। वर्तमान समय में गायत्री परिवार की लाखों बहिनें विशाल आश्वमेधिक यज्ञों सहित विभिन्न संस्कारों का पौरोहित्य कार्य करती हैं। श्रीमती पण्ड्या ने कहा कि जागृत, प्रशिक्षित नारी ही परिवार और समाज में सुसंस्कारिता,पवित्रता और संवेदना की गंगोत्री का प्रवाह पैदा कर सकती हैं। इससे जहाँ एक ओर नारियाँ स्वावलंबी बनेंगी,वहीं दूसरी ओर अपनी आवाज उठाने में सक्षम हो पायेंगी। उन्होंने कहा कि युगऋषि पूज्य आचार्य श्री ने देश भर में नारी जागरण अभियान को गति देने के लिए बहिनों के साथ साथ भाइयों को भी तैयार किया। गायत्री परिवार की संस्थापिका माता भगवती देवी शर्मा ने नारी जागरण को गति प्रदान करते हुए नारियों को प्रशिक्षित करने के विविध आयोजनों की नींव रखीं। उस नींव पर संस्था की अधिष्ठात्री श्रद्धेया शैलदीदी के नेतृत्व में बनी भव्य इमारत के रूप में सशक्त बहिनों की टीम को देखा जा सकता है। वहीं श्यामबिहारी दुबे ने प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए युगधर्म को निभाने के लिए प्रेरित किया और समाज के विकास में समयदान और अंशदान नियमित रूप से करने का आह्वान किया। प्रो.विश्वप्रकाश त्रिपाठी ने माताजी की जन्मशताब्दी वर्ष 2026 तक की कार्ययोजनाओं पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर डॉ. गायत्री शर्मा सहित उप्र, मप्र, राजस्थान, छत्तीसगढ़, दिल्ली सहित १६ राज्यों से आये प्रतिभागीगण मौजूद रहे
साथ में फोटो नम्बर 12
स्वामी सत्यदेव परिव्राजक जी का स्मृति दिवस श्रद्धापूर्वक मनाया गया
हरिद्वार। काशी नागरी प्रचारिणी सभा वाराणसी द्वारा संचालित आर्य नगर ज्वालापुर स्थित सत्य ज्ञान निकेतन के संस्थापक स्वामी सत्यदेव परिव्राजक जी का स्मृति दिवस (पुण्यतिथि) श्रद्धापूर्वक मनाया गया। गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के डॉ0 मनु देव बंधु ने वेद मंत्रोच्चारण के साथ हवन किया तथा उनके जीवन चरित्र पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि संस्था के क्रियाकलापों को आगे बढ़ाने की आवश्यकता है। गंगा तट पर सत्य ज्ञान निकेतन की स्थापना करने वाले स्वामी सत्यदेव जी के बारे में उन्होंने कई रोचक तथ्य बताएं। संस्था के व्यवस्थापक प्रभाकर मिश्रा द्वारा कार्यक्रम का संचालन किया गया। इस स्मृति दिवस में स्थानीय निवासियों ने भाग लिया। डॉ0 मनुदेव ने बताया की स्वामी सत्यदेव परिव्राजक का जन्म 1879 में लुधियाना में हुआ था। 1905 में स्वामी श्रद्धानंद जी की सलाह पर वह उच्च शिक्षा के लिए अमेरिका चले गए। तत्पश्चात वे शिक्षा हेतु देश-विदेश घूमते रहे। उसके बाद उन्होंने विदेश से लौटकर संन्यास ले लिया और हिंदी का प्रचार प्रसार करने लगे। वर्ष 1934 में स्वामी सत्यदेव ने हरिद्वार में सत्य ज्ञान निकेतन नामक आश्रम की स्थापना की। स्वामी सत्यदेव ने अपने जीवन काल में काफी पुस्तकें लिखी। सत्यज्ञान निकेतन में ही उन्होंने पुस्तकालय की स्थापना भी की थी। बाद में उन्होंने इस आश्रम को काशी नागरी प्रचारिणी सभा को सौंप दिया था।
साथ में फोटो नम्बर 0
“नशा मुक्ति देवभूमि के तहत पुलिस ने चलाया जनजागरूकता अभियान
हरिद्वार। उत्तराखण्ड सरकार द्वारा चलाये जा रहे “नशा मुक्ति देवभूमि ”अभियान के तहत शहर मे मादक पदार्थों की अवैध तस्करी एंव अवैध शराब कारोबार,मादक पदार्थ, नशीले पदार्थ, सट्टा जुआ एवं साथ ही संदिग्ध रूप से दिखने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध कनखल पुलिस द्वारा थाना निरीक्षक मुकेश चौहान के नेतृत्व में क्षेत्र में प्रभावी कानूनी कार्यवाही को लेकर चेकिंग अभियान चलाया गया। जनसम्पर्क के दौरान क्षेत्र में नशा मुक्ति केंद्रो का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान थानाध्यक्ष मुकेश चौहान ने ग्राम मिस्सरपुर में स्थापित एकीकृत नशा एवं पुनर्वास केंद्र में रह रहे लाभार्थियों को द्वारा नशे से होने वाले घातक परिणामों तथा नशे से होने वाली आए दिन दुर्घटनाओ पारिवारिक कलह,गरीबी,मानसिक परेशानी,नशे के कारण होने वाले अपराधों आदि के बारे में बताया गया। तथा सभी से नशा न करने की अपील की गई। कनखल पुलिस द्वारा किया गए। इस सराहनीय कार्य की सभी लोगो एवं लाभार्थियों द्वारा काफी प्रशंसा की गई।
हरिद्वार में प्रथम घुड़सवारी चैंम्पियनशिप में अंडर 16 के 30 खिलाड़ी करेंगे शिरकत
हरिद्वार। तीर्थनगरी में पहली बार प्रथम अंतरस्कूलीय घुड़सवारी प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इसमें जनपद के आठ स्कूलों से अंडर 16 वर्ष आयु के 30 खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। विजेताओं को राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेलने का अवसर मिलेगा। उक्त जानकारी घुड़सवारी संघ के मुख्य संरक्षक डॉ.नवनीत परमार ने दी। उन्होंने बताया कि गौरतलब है कि फर्स्ट इंटर स्कूल हार्स राईडिंग चैम्पियनशिप का आयोजन रविवार 11 दिसंबर को ओलिवा इंटरनेशनल स्कूल राजा गार्डन जगजीतपुर कनखल में किया जा रहा है। इस प्रतियोगिता 8 स्कूलों के अंडर 16 के 30 खिलाड़ी प्रतिभाग करेंगे। चैंम्पियनशिप के हेड इंस्ट्रक्टर एवं मुख्य आयोजक सौरव भाटिया ने बताया कि यह चौंपियनशिप हरिद्वार में पहली बार आयोजित की जा रही है। उन्होंने कहा कि घुड़सवारी से बच्चों का शारीरिक और मानसिक विकास होता है। इस चौंपियनशिप के बाद उनका अगला लक्ष्य हरिद्वार के बच्चों को नेशनल और इंटरनेशनल लेवल तक ले जाने का है। चौंपियनशिप के मुख्य सहयोगी कमांडर अमोद कुमार चौधरी,अनुपम सिंगल,डॉक्टर नवनीत परमार, मनीष मनीष गुप्ता,विकास गोयल, विवेक गोयल, मनीष भारद्वाज आदि कठिन प्रयास कर रहे हैं।
साथ में फोटो नम्बर 11
इंण्डियन रेडक्रास के संयोजन में स्वच्छता के प्रति जागरूकता अभियान चलाया
हरिद्वार। भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय के तत्वाधान में सम्पूर्ण भारत में स्वच्छ भारत स्वच्छ पर्यटन पर जनजागरण अभियान के तहत जनपद हरिद्वार में भी इंण्डियन रेडक्रास के संयोजन में जागरूकता अभियान चलाया गया। अभियान के अन्तर्गत इण्डियन रेडक्रास के अध्यक्ष जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय एवं सचिव डा0 नरेश चौधरी के नेतृत्व में हर की पौड़ी पर नुक्कड़ नाटिकाओं के प्रदर्शन के माध्यम से श्रद्धालुओं, यात्रिओं एवं उपस्थित जनपद निवासियों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया गया। नुक्कड़ नाटिकाओं के दौरान उपस्थित जन समूह ने इंण्डियन रेडक्रास के स्वयं सेवकों की हौसला अफजायी की। इंण्डियन रेडक्रास सचिव डा0 नरेश चौधरी ने सभी उपस्थित श्रद्धालुओं, यात्रिओं एवं नागरिकों को लघु नाटिका प्रदर्शन के दौरान शपथ दिलाते हुये कहा कि हम सब स्वच्छता के प्रति सजग रहेंगे और इसके लिए अपनी जीवन शैली में विशेष रूप से समय देंगे। प्रत्येक वर्ष 100 घण्टे यानी प्रत्येक सप्ताह 2 घण्टे श्रमदान करके स्वच्छता के इस संकल्प को चरित्रार्थ करेंगे। डा0 नरेश चौधरी ने कहा कि प्रत्येक नागरिक सबसे पहले स्वयं से अपने परिवार से, अपने मोहल्ले से, अपने निवास स्थान से एवं अपने कार्यस्थल से स्वच्छता अभियान की शुरूआत करेंगे। डा0 नरेश चौधरी ने यह भी जनमानस को अवगत कराते हुये कहा कि विश्व के जो भी देश स्वच्छ दिखते हैं उसका कारण यह है कि वहां के नागरिक गंन्दगी नहीं करते और न ही गन्दगी किसी को करने देते। डा0 नरेश चौधरी ने सभी उपस्थित जन समूह को यह भी सन्देश दिया कि स्वच्छता की तरफ बढाया गया हम सभी का एक कदम पूरे भारत देश को स्वच्छ बनाने में मदद करेगा। नुक्कड़ नाटिका के माध्यम से मां गंगा को स्वच्छ रखना अपने क्षेत्र में गन्दगी न स्वयं फैलाना न फैलाने देना, कूडे को निर्धारित कूड़ेदानों में एकत्रित करना,पॉलिथीन का उपयोग न स्वयं करना न करने देना आदि प्रेरित संन्देश उपस्थित श्रद्धालु यात्रिओं को हर की पौड़ी पर दिये गये। जागरूकता अभियान के तहत सम्पूर्ण भारत में एकसाथ स्वच्छ भारत स्वच्छ पर्यटन का सन्देश जा सकेगा। जब भारत स्चच्छ होगा तो पर्यटन भी स्वच्छ होगा। नुक्कड़ नाटिका के दौरान इंण्डियन रेडक्रास स्वयं सेवकों में आसमा परवीन,विशाखा चौधरी, आकाश रावत,शुभमअग्रवाल,प्रज्ञा,नेहा,संजना,जाहन्वी,समीक्षा,अवीश,आस्था चौधरी,अदीत्री, युवराज आदि की सक्रिय सहभागिता रही। भारत सरकार पर्यटन मंत्रालय से रमेश देवरथ,श्रीराम, जिला पर्यटन अधिकारी सुरेश यादव भी उपस्थित थे।
फोटो नं.1-जनजागरण अभियान के दौरान
लघु नाटिका के माध्यम से स्वच्छ भारत स्वच्छ पर्यटन अभियान के प्रति जागरूक किया
हरिद्वार। भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय एवं इण्डियन रेडक्रास सोसायटी के संयुक्त तत्वाधान में जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय के निर्देशन एवं रेडक्रास सचिव डा.नरेश चौधरी के संयोजन में स्वच्छ भारत स्वच्छ पर्यटन जन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के अंतर्गत परमार्थ निकेतन में गंगा तट पर आरती के दौरान इण्डियन रेड क्रास सचिव डा.नरेश चौधरी के नेतृत्व में इण्डियन रेडक्रास स्वयंसेवकों के द्वारा देश विदेश से आये श्रद्धालु यात्रियों को लघु नाटिका के प्रदर्शन के माध्यम से स्वच्छ भारत स्वच्छ पर्यटन अभियान के प्रति जागरूक किया गया। परमार्थ निकेतन आश्रम के संस्थापक अध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की स्वच्छ भारत पहल ने भारत को स्वच्छता के लिये विश्व पर्यटन में विशेष रूप से पहचान दिलाई है। स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान के प्रमुख उद्देश्य में पर्यटन स्थलों की स्वच्छता और साफ सफाई में सुधार किया जाना था और इस जागरूकता अभियान से भारत के विभिन्न पर्यटन स्थलों की स्वच्छता और साफ सफाई में विशेष रूप से सुधार हुआ है। स्वामी चिदानन्द ने गंगा स्वच्छता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि मां गंगा का जल पहले की तुलना में बहुत स्वच्छ हुआ है। परन्तु मां गंगा की स्वच्छता हेतु हम सभी को लगातार अभियान चलाते रहने हैं। इसमें पर्यटकों की भी अहम भूमिका है कि पर्यटक भी मां गंगा को प्रदूषित न करें। स्वामी चिदानन्द ने गंगा के घाटों एवं तटों को पॉलीथिन मुक्त क्षेत्र बताया तथा देश विदेश से आये हुए श्रद्धालुओं, यात्रियों को आह्वान करते हुए संकल्प दिलाया कि हम सब स्वयं को स्वच्छ भारत स्वच्छ पर्यटन अभियान का एक समर्पित स्वयंसेवी माने तथा गंगा में न तो स्वयं कोई गंदगी करें और न ही किसी को करने दे। साथ ही साथ जहां भी हम रहते हैं या कार्य करते हैं उन सभी स्थानों पर साफ सफाई के लिए अपनी दिनचर्या में से कुछ समय निकालकर श्रमदान अवश्य करें एवं न ही पॉलीथिन का स्वयं उपयोग करें और न हीं किसी को करनें दें तभी सम्पूर्ण भारत स्वच्छ रह पाएगा और पर्यटन भी स्वच्छ कहलायेगा। स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने इण्डियन रेड क्रास सचिव डा.नरेश चौधरी एवं भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय से जन जागरण अभियान में सक्रिय सहभागिता करने वाले अधिकारियों तथा रेडक्रॉस स्वयं सेवकों का आभार प्रकट करते हुए धन्यवाद दिया तथा इस प्रकार के जन जागरण अभियानों को भविष्य मे भी चलाते रहने के लिये हौंसला अफजाई की।
फोटो नं.2-सीसीटीवी फुटेज देखते कोतवाली प्रभारी
दिनहदहाड़े बच्चा चोरी की घटना से हड़कंप,पुलिस जांच में जुटी
हरिद्वार। ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्रांगर्त मौहल्ला कड़च्छ से आठ महीने का बच्चा चोरी कर लिए जाने का मामला सामने आया है। पुलिस जांच पड़ताल करते हुए बच्चे की बरामदगी में जुट गयी है। पुलिस की जांच में प्रथम दृष्टया शनिदान मांगने वाले को संदिग्ध माना जा रहा है। बच्चे की तलाश के लिए पूरे जिले में अलर्ट जारी किया गया है। घटना स्थल और आसपास के सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस चेक कर रही है। पुलिस के मुताबिक रविन्द्र कुमार पत्नि राखी व छह माह के बेटे के साथ ज्वालापुर के मौहल्ला कड़च्छ में रहते हैं। शनिवार की सवेरे रविन्द्र काम पर चले गए। जबकि उनकी पत्नि राखी छह माह के मासूम बेटे के साथ घर पर मौजूद थी। इसी बीच वह बेटे को सुलाकर कपड़े सुखाने के लिए छत पर चली गयी। कुछ देर बाद जब वापस लौटी तो बेटा गायब मिला। आस पड़़ोस में पता करने के बाद भी जब बच्चे का कुछ पता नहीं चला तो पुलिस को सूचना दी। दिनदहाड़े बच्चा चोरी होने की घटना से पुलिस में हड़कंप मच गया। कोतवाल प्रभारी आरके सकलानी पुलिसकर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे और परिजनों से जानकारी जुटायी। परिजनों ओर आस पड़ोस के लोगों ने शनिदान मांगने वाले युवक ओर साधुवेश धारी एक दंपत्ति पर बच्चा चोरी का शक जाहिर किया। जानकारी के आधार पर पुलिस ने पूरे जिले में अलर्ट जारी करते हुए बच्चे की तलाश शुरू कर दी है। जिले की सीमाओं पर विशेष चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। एसएसपी अजय सिंह ने भी मौका मुआयना किया और परिजनों से बात की तथा पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए। वरिष्ठ कांग्रेस नेता सुनील अरोड़ा ने कहा कि दिनदहाड़े बच्चा चोरी की घटना अत्यंत गंभीर है। लेकिन एसएसपी अजय सिंह अनुभवी पुलिस अधिकारी हैं। लोगों को उनकी कार्यकुशलता पर पूरा भरोसा है। उम्मीद है बच्चा चोरी करने वाले जल्द ही पुलिस की गिरफ्त में होेगे।
वाहन की चपेट में मासूम की मौत,चार जुआरी गिरफ्रत में
हरिद्वार। नगर कोतवाली क्षेत्रार्न्गत भूपतवाला क्षेत्र में शनिवार सुबह घरेलू गैस डिलीवरी वाहन की चपेट में आकर एक मासूम की मौत हो गई। नगर कोतवाली पुलिस ने गैस डिलीवरी वाहन को कब्जे में लेते हुए चालक को हिरासत में ले लिया है। शनिवार सुबह यह दुर्घटना डीडी पुरम कॉलोनी के बाहर हुई बताई जा रही है। कॉलोनी में किराए पर रहने वाले के निवासी के दो साल की बेटी प्राची खेलते खेलते घर के बाहर रोड पर आ गई। इसी दौरान वहां से गुजर रहे घरेलू गैस डिलीवरी वाहन की चपेट में आ गई,मासूम की चीख-पुकार सुनकर चालक ने वाहन रोक लिया। आनन फानन में मासूम को जिला अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। कोतवाली प्रभारी राकेन्द्र सिंह कठेैत ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। आरोपी वाहन चालक को हिरासत में लिया गया है। आरोपी के खिलाफ धारा में मुकदमा दर्ज किया जाएगा। वही दूसरी ओर कोतवाली क्षेत्रान्गर्त रोड़ी बेलवाला क्षेत्र में जुआ खेलते चार आरोपी को पुलिस ने गिरफ्त में ले लिया। आरोपियों का संबंधित धाराओं में चालान कर दिया गया है। चौकी रोड़ी बेलवाला प्रभारी प्रवीण सिंह रावत के अनुसार शुक्रवार की शाम को हाथी पुल के पास रैन बसेरे के पीछे जुआ खेलते चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। मौके से जुआरियों के कब्जे से 4300 एवं ताश के पत्ते बरामद हुए। चौकी लाकर की गई पूछताछ में जुआ खेलने वालों ने अपना नाम सोनू निवासी रामलीला मैदान बाल्मीकि बस्ती शुभम निवासी राम नगर आर्य नगर ज्वालापुर संजय कुमार निवासियों पर रोड जोगीवाड़ा तथा विवेक गुप्ता निवासी भला रोड छोटी सब्जी मंडी धामन धर्मशाला बताया सभी आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया है।
गैंगरेप के तीसरे आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्रतार
हरिद्वार। थाना सिडकुल क्षेत्र में महिला से गैंगरेप करने के मामले में आरोपी दस हजार के इनामी आरोपी पीरु को पिरान कलियर चौराहे से गिरफ्तार कर लिया। इससे पूर्व मामले में दो आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। शनिवार सुबह महिला से गैंगरेप का आरोपी कलियर चौराहे पर खड़ा है और कहीं भागने की फिराक में है,सूचना पाकर पुलिस ने आरोपी को पकड़ लिया। ज्ञात रहे कि बीते अप्रैल माह में सिडकुल पुलिस ने एक महिला की शिकायत पर 3 लोगों के खिलाफ गैंगरेप के आरोप में नामजद मुकदमा दर्ज किया था। आरोपी की तलाश में पुलिस दबिश देने जुटी हुई थी। महिला ने सिडकुल थाने में हजारा ग्रंट निवासी पीड़िता ने पीरू पुत्र सीदा, वाजिद पुत्र शौकत अब्दुल पुत्र नन्हा के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था पुलिस आरोपियों की तलाश में कई बार दबिश दी, लेकिन आरोपी हाथ नहीं आ पा रहे थे। पुलिस की ओर से तीनों की गिरफ्तारी पर 10000 का इनाम भी घोषित किया गया था। सिडकुल थाना प्रभारी निरीक्षक प्रमोद कुमार उनियाल के अनुसार मामले में दस हजार के आरोपी पीरू पुत्र सीदा को पुलिस ने पकड़ लिया है। मेडिकल जांच के बाद उसे जेल भेजा जा रहा है।
फोटो नं.3-देवपाल राठी
खतौली सीट पर आरएलडी की जीत भाजपा की नैतिक हार है-चौधरी देवपाल राठी
हरिद्वार। राष्ट्रीय लोकदल के उत्तराखण्ड प्रदेश उपाध्यक्ष चौधरी देवपाल सिंह राठी ने यूपी की खतौली विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में मिली जीत को पार्टी प्रमुख चौधरी जयंत सिंह के कुशल प्रबंधन के साथ किसानों और मजदूरों की जीत बताया है। प्रैस को जारी बयान में चौधरी देवपाल सिंह राठी ने कहा कि खतौली सीट पर आरएलडी की जीत से भाजपा के बड़बोले नेताओं की हार हुई है। केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने कहा था कि हमने मुजफ्फरनगर में चौधरी अजीत सिंह को हराया और खतौली विधानसभा सीट भी सोलह हजार से अधिक मतों के अंतर से जीतेंगे। इससे कम अन्तर से जीते तो यह मेरी नैतिक हार होगी। चौधरी देवपाल सिंह राठी ने कहा कि भाजपा की जनविरोधी नीतियों से देश का किसान, मजदूर, मध्यम वर्ग, व्यापारी सभी परेशान हैं। देश में महंगाई, भ्रष्टाचार चरम पर है। रसोई गैस से लेकर खाद, बिजली, दवाएं सभी जरूरी चीजों के भाव आसमान छू रहे हैं। महंगाई व भ्रष्टाचार से परेशान जनता ने हिमालच विधानसभा एवं दिल्ली एमसीडी चुनाव में भाजपा को सबक सिखाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि देश के सार्वजनिक संस्थानों को निजी उद्योगों को बेचा जा रहा है। सरकार ना तो गन्ने का भाव बढ़ा रही हैं, ना ही बकाया भुगतान किया जा रहा है। 2024 के लोकसभा चुनावों में जनता भाजपा के झूठे वादों को नकार कर केंद्र की सस्ता से बाहर का रास्ता दिखाने का काम करेगी।
फोटों नं.8-चयन प्रक्रिया से बाहर होने पर रोता छात्र
गुरूकुल कांगड़ी विवि मुक्केबाजी टीम चयन में खिलाड़ियों ने लगाया अनियमितता का आरोप
हरिद्वार। गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय की मुक्केबाजी टीम के चयन में छात्रों ने अनियमितताओं का आरोप लगाया हैं। टीम चयन को लेकर छात्रों ने काफी हंगामा भी किया। छात्रों ने आरोप लगाया कि उन्हें टीम चयन में दिखावे के लिए शामिल किया गया। विश्वविद्यालय के छात्र अनिकेत ने बताया की चयन प्रक्रिया में शामिल होने के लिए गुड़गांव के एक कोच के क्लब के बच्चे भी आए थे। गुड़गांव से आए छात्र विश्वविद्यालय के कोर्स कर रहे हैं। लेकिन वह नियमित रूप से विश्वविद्यालय में उपस्थित नहीं रहते हैं। सिर्फ मुक्केबाजी टीम में चयन के लिए विवि आए थे। चयन प्रक्रिया में उनके कोच रैफरी बनाया गया। कोच ने विश्वविद्यालय के प्रतिभावान छात्रों कोे हारा हुआ घोषित कर चयन प्रक्रिया से बाहर कर दिया। विवि के शिक्षकों एवं मैनेजमेंट के साथ मिलकर एडमिशन लेने वाले छात्र विवि के प्रतिभावान छात्रों को खेलने से रोक देते हैं। विश्वविद्यालय में किसी भी नियम प्रक्रिया का पालन नहीं हो रहा है। एक प्राईवेट कंपनी की तरह विवि को चलाया जा रहा है। छात्र गौरव अरोड़ा ने आरोप लगाया कि चयन प्रक्रिया सिर्फ दिखावा थी। चयन समिति ने पहले ही गुड़गांव हरियाणा से आए हुए लड़कों के नाम लिख कर रखे थे। चयन प्रक्रिया में किसी भी मुक्केबाजी विशेषज्ञ को शामिल नहीं किया गया। चयन प्रक्रिया में ना तो क्वालिफाइड रेफरी, जज थे और ना ही मुकाबला बॉक्सिंग रिंग में तरीके से कराया गया। चयन प्रक्रिया छात्रों के साथ एक धोखा है। चयन प्रक्रिया को दोबारा हरिद्वार एवं उत्तराखंड के जज, रेफरी द्वारा कराया जाए। मांग नहीं जाने पर छात्र भूख हड़ताल करेंगे।

शारदा नगर के लोगों ने की रेत, बजरी, सीमेंट से सड़क बनवाने की मांग
हरिद्वार। ज्वालापुर स्थित शारदा नगर वासियों ने वरिष्ठ नागरिक सामाजिक संगठन के अध्यक्ष चौधरी चरण सिंह के नेतृत्व में स्थानीय विधायक मदन कौशिक से मिलकर कालोनी की सड़कों को रेत बजरी से बनवाने की मांग की है। चौधरी चरण सिंह ने बताया कि शारदा नगर में सड़क निर्माण प्रस्तावित है। कालोनी के ए कलस्टर के निवासियों ने काफी समय पहले ही नगर गिनम को पत्र लिखकर अवगत करा दिया था कि कालोनी की सड़कें अच्छी स्थिति में है। इसलिए फिलहाल सड़क निर्माण की आवश्यकता नहीं है। यदि सड़कों का निर्माण कराना ही है तो सड़कों को सीमेंट, रेत, बजरी से बनाया जाए। लेकिन कालोनी के लोगों के विरोध भी सड़क को तोड़ दिया गया। कालोनी के लोगों की मांग है कि यदि निर्माण जरूरी है तो टाइल लगाने के बजाए रेत, बजरी और सीमेंट से सड़क बनायी जाए। क्योंकि सड़क पर भारी वाहनों का आवागमन भी होता है। चौधरी चरण सिंह ने बताया कि लोगों की मांग पर विधायक मदन कौशिक ने सड़क का निरीक्षण कर कालोनी के लोगों को उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है। साथ लोनिवि को भी इस संबंध में अवगत कराया है। विधायक से मिलने वालों में दीपक राज विश्नोई,मुदित तायल,एसके शर्मा, विजेंद्र कुमार शर्मा,दीपचंद राजपूत,नागेंद्र सिंह चौहान,प्रमोद कुमार, नवीन कुमार आदि कालोनीवासी शामिल रहे।

फोटो नं.4-चयनित टीम
इंटर यूनिवर्सिटी चैम्पियनशिप के लिए गुकांविवि की पुरूष एवं महिला टीम का चयन
हरिद्वार। गुरूकुल कांगडी समविश्वविद्यालय के शारीरिक शिक्षा एवं खेल विभाग मे महिला एवं पुरूष बाक्सिंग टीम का चयन किया गया। चयनित टीम एमडी यूनिवर्सिटी रोहतक मे होने वाली ऑल इण्डिया इन्टर यूनिवर्सिटी बॉक्सिंग प्रतियोगिता में विवि का प्रतिनिधित्व करेगी। महिला एवं पुरूष वर्ग का आयोजन किया जा रहा है। दयानंद स्टेडियम परिसर मे महिला टीम चयन की प्रक्रिया प्रो.दीपा गुप्ता की उपस्थिति मे आरम्भ हुई। उन्होने बाक्सिंग जैसे कोम्बेटिव स्पोटर्स मे छात्राओं के प्रतिभाग की सराहना करते हुये कहा कि देश मे महिलाओ के खेलो मे प्रतिभाग से कॉलेज तथा विश्वविद्यालय मे भी छात्राये खेलो मे आगे आ रही है। जो सभी के लिए गर्व की बात है। वही पुरूष वर्ग टीम चयन समिति के अध्यक्ष डा.ऋषि कुमार शुक्ला ने कहा कि खेल युवा शक्ति का सबसे अच्छा विकल्प है। शिक्षा जहां लक्ष्य निर्धारण मे सहायक है। वही खेल लक्ष्य प्राप्ति मे प्रेरक का काम करते है। खिलाडियों को दोनो विद्याओं के माध्यम से व्यक्तिगत विकास एवं समाज की उन्नति के लिए प्रयास करना चाहिये। महिला वर्ग चयन समिति मे डा.संगीता मदान, डा.बिन्दु मलिक एवं संयोजक सुनील कुमार के निर्देशन मे 45-48 किग्रा भार मे बीपीईएस की हिमांशी,48-50 किग्रा भार मे शिवानी,50-52 किग्रा भार मे दीपिका,60-63 किग्रा भार मे खुशी,54-57 किग्रा भार मे काजल,70-74 किग्रा भार मे ज्योति तथा 81 प्लस किग्रा भार मे संजना का चयन किया गया है। वही पुरूष वर्ग मे 54-57 किग्रा भार मे अमन,57-60 किग्रा भार मे परविन्द्र,60-63 किग्रा भार मे शुभम,71-75 किग्रा भार मे कौशलेश रावत,75-80 किग्रा भार मे मधुसूदन का चयन किया गया है। चयन समिति मे डा.ऋषि कुमार शुक्ला,डा.गगन माटा,डा.प्रणवीर सिंह तथा सुनील कुमार उपस्थित रहे। चयन प्रक्रिया का संचालन सुनील कुमार द्वारा किया गया। इस दौरान विभाग प्रभारी डा.अजय मलिक,डा.शिवकुमार चौहान,डा.कपिल मिश्रा,डा.अनुज कुमार,कनिक कौशल,अश्वनी कुमार, धर्मेन्द्र बिष्ट,कुलदीप,राजेन्द्र सिंह आदि उपस्थित रहे।
फोटो नं.5-सड़कों का लोकार्पण करते हुए
स्वामी यतिश्वरानन्द के प्रस्ताव पर बनी सड़कों का सांसद नरेश बंसल ने किया लोकार्पण
हरिद्वार। ग्राम भोवापुर चमरावल मे पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद के प्रस्ताव पर राज्यसभा सांसद नरेश बंशल ने अपनी निधि से बनायी गयी कई सड़कों का लोकापर्ण किया। शनिवार को भोवापुर चमरावल ग्राम में कई सड़कों का लोकार्पण करते हुए कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी हर वर्ग का विकास कर रहे हैं। मूलभूत सुविधाओं के लिए भरसक प्रयास जारी है। उन्होंने कहा कि पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद के प्रस्ताव पर बनायी गयी कई सड़कों का लोकार्पण किया हैं तो कई सड़कों का निर्माण कार्य जारी है। उनके प्रयास से शिक्षा स्वास्थ्य, बिजली, पानी, सड़कें, जंगलों से जंगली जानवरों को रोकने के लिए भी कार्य किया जा रहा है। पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद ने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस की विधायक कार्यो को बाधित कर रही है। राज्यसभा सांसद नरेश बंसल जिला पंचायत के माध्यम से निरंतर विकास कार्य करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा के सभी जनप्रतिनिधि आमजन को सुविधाएं प्रदान करने व विकास कार्यो के प्रति सजगता से कार्य कर रहे हैं। इस अवसर पर ग्राम प्रधान प्रमोद सैनी, मंडल अध्यक्ष जितेंद्र सैनी, रणवीर, बीरपाल, इन्द्रेश सैनी, ब्लॉक उप प्रमुख धमेंद्र प्रधान, धर्म सिंह, अनिल शर्मा, राज, सतीश, अंकित चौहान आदि ग्रामीण मौजूद रहे।
फोटो नं.6-आरती करते श्रद्धालुजन एवं संत
ब्रह्मलीन महंत अमर सिंह महाराज को संत महंतो समाज ने दी भावभीनी श्रद्धांजलि
सहज सरल स्वभाव के संत थे ब्रह्मलीन महंत अमर सिंह-महंत जसविन्दर सिंह
हरिद्वार। ब्रह्मलीन महंत अमर सिंह महाराज की पुण्य तिथी पर कनखल स्थित श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल के संतों ने उनका भावपूर्ण स्मरण करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर अखाड़े में गुरू ग्रंथ साहिब का पाठ, शबद कीर्तन का आयोजन किया गया। इसके पश्चात श्रद्धालु भक्तों को भोग प्रसाद वितरित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल के अध्यक्ष महंत ज्ञानदेव सिंह महाराज ने कहा कि निर्मल कुटिया नहरवाली मोगा पंजाब के ब्रह्मलीन महंत अमर सिंह महाराज दिव्य महापुरूष थे। सनातन धर्म संस्कृति के प्रचार प्रसार में उनका योगदान कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। कोठारी महंत जसविन्दर सिंह महाराज ने कहा कि ब्रह्मलीन महंत अमर सिंह महाराज सहज सरल स्वभाव के संत थे। निर्मल जल के समान जीवन व्यतीत करते हुए उन्होंने सदैव समाज को ज्ञान एवं सद्मार्ग की प्रेरणा दी। ऐसे विलक्षण संत विरले ही होते हैं। सभी को उनकी शिक्षाओं और विचारों का अनुसरण करते हुए मानव कल्याण एवं देश सेवा में योगदान करना चाहिए। ब्रह्मलीन महंत अमर सिंह महाराज के शिष्य महंत बलवेन्द्र सिंह गाय वाले ने कहा कि पूज्य गुरूदेव का धर्म शास्त्रों के प्रति ज्ञान विलक्षण था। गुरू से प्राप्त शिक्षाओं व संत परंपरांओं का पालन करते हुए उनके अधूरे कार्यो को पूरा करना ही उनके जीवन का उद्देश्य है। महंत अमनदीप सिंह महाराज एवं महंत अरूणदास महाराज ने कहा कि संत महापुरूषों के सानिध्य में ही भक्त के कल्याण का मार्ग प्रशस्त होता है। उन्होंने कहा कि ब्रह्मलीन महंत अमर सिंह महाराज महान संत थे। उनके शिष्य महंत बलवेन्द्र सिंह महाराज अपने गुरूदेव के कार्यो को जिस प्रकार आगे बढ़ा रहे हैं, वह प्रशंसनीय है। इस अवसर पर महंत खेम सिंह,संत गुरप्रीत सिंह,संत हरि सिंह,संत सुखमन सिंह,महंत निर्भय सिंह,महंत निर्मल सिंह शास्त्री,संत वीर सिंह, संत जसकरण सिंह, संत हरजोध सिंह, संत गुरजीत सिंह सहित कई संत मौजूद रहे।
फोटो नं.7-महंत अमनदीप सिंह को नियुक्ति पत्र सौंपते हुए
महंत अमनदीप सिंह बने प्रधानमंत्री जन कल्याणकारी योजना जागरूकता अभियान के प्रदेश अध्यक्ष
ंहरिद्वार। श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल के महंत अमनदीप सिंह को प्रधानमंत्री जनकल्याणकारी योजना जागरूकता अभियान संगठन का प्रदेश अध्यक्ष नामित किया गया है। कनखल स्थित अखाड़े में संगठन की एक विशेष बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष अनित कौशिक महाराज और राष्ट्रीय संगठन महामंत्री आचार्य विजय महाराज धर्माचार्य ने महंत अमनदीप सिंह को प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त करते हुए मनोयन पत्र सौंपा। श्री निर्मल पंचायती अखाड़ा के पीठाधीश्वर एवं निर्मल भेख के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहंत ज्ञानदेव सिंह महाराज वेदांताचार्य ने महंत अमनदीप सिंह महाराज को आशीर्वाद दिया। कोठारी महंत जसविंदर सिंह शास्त्री ने कहा कि महंत अमनदीप सिंह के नेतृत्व में उत्तराखंड में प्रधानमंत्री की जनकल्याणकारी योजनाओं को घर घर तक पहुंचाया जाएगा। उनके नेतृत्व में संगठन और अधिक मजबूत होगा। संगठन के राष्ट्रीय महामंत्री आचार्य विजय महाराज ने कहा कि संगठन का काम प्रधानमंत्री की जनकल्याणकारी योजनाओं का गांव गांव प्रचार करना है ताकि आम जनमानस इन योजनाओं का लाभ उठा सकें। महंत अमनदीप सिंह महाराज ने कहा कि उनका उद्देश्य प्रधानमंत्री के संकल्प सबका साथ सबका विकास को गांव-गांव में क्रियान्वित करना है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रीय एकता और अखंडता के लिए कार्य कर रहे हैं और जनकल्याण के लिए अनेक योजनाओं का संचालन कर रहे हैं। इस अवसर पर संगठन के राष्ट्रीय पदाधिकारी और निर्मल पंचायती अखाड़ा के कोठारी महंत जसविंदर सिंह शास्त्री महाराज,अखिल भारतीय संत समिति के प्रदेश महामंत्री महंत अरुण दास महाराज, विष्णुधाम के परामध्यक्ष महंत निर्मल दास,महंत खेम सिंह महाराज,महंत गुरमीत सिंह देवपुरा वाल,महंत जरनैल सिंह,संत गुरजीत सिंह ,कारोबारी महंत रवि सिंह एक्कड़ कला,संत गज्जन सिंह,संत वीर सिंह,संत जसकरण सिंह, संगठन के राष्ट्रीय सचिव ईश्वर सिंह नेगी,राष्ट्रीय उपाध्यक्ष विजय कौशिक आदि ने महंत अमनदीप सिंह को बधाई दी।