हिंदुओं में पलायन नहीं पराक्रम का भाव भरने की आवश्यकता हैं

इस खबर को सुनें

विश्व हिन्दू परिषद के तत्वावधान में साध्वी संगोष्ठी का आयोजन

हरिद्वार। विश्व हिन्दू परिषद के तत्वावधान में साध्वी संगोष्ठी का आयोजन श्री कृष्ण निवास आश्रम सन्यास रोड़ कनखल में किया गया। विश्व हिन्दू परिषद द्वारा आयोजित इस संगोष्ठी में संपूर्ण भारत से महिला संत सम्मिलित हुई। संगोष्ठी का उद्घाटन विश्व हिन्दू परिषद के संरक्षक दिनेश चंद्र,केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे,महामंडलेश्वर स्वामी साध्वी मैत्रेय गिरी महाराज,साध्वी विभानंद गिरी महाराज,साध्वी दिव्यचेतना महाराज,श्रीमहंत साध्वी डा.प्रज्ञा भारती, साध्वी गार्गी चेतन्या, साध्वी गंगानाथ ने संयुक्त रुप से किया। संगोष्ठी में विषय प्रस्तावना रखते हुए विश्व हिन्दू परिषद के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि वर्तमान समय में भारत तथा हिन्दू समाज पर अंतरराष्ट्रीय षडयंत्रों के आधार पर चौतरफा हमले हो रहें हैं. भारत ने अपनी सनातन संस्कृति, धर्म और समाज सदैव रक्षा की हैं। देश और धर्म की रक्षा के लिए हमारे महान पूर्वजों ने अध्यात्म, नैतिक, जीवन मूल्यों की रक्षा हेतु त्याग और संघर्ष किया हैं. आज जीवन मूल्यों को लेकर हम जीवित हैं, उन पर आघात हो रहें हैं। परिवार, कुटुंब और वैवाहिक व्यवस्थाओं को तोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। विदेशी षडयंत्रों की टूल किट के माध्यम से समाज में समलैंगिकता, लिव इन रिलेशनशिप जैसे घृणित विषय स्थापित करने के प्रयास किए जा रहे हैं। देश के सीमावर्ती राज्य,वनवासी,आदिवासी, वंचितदृपिछड़े क्षेत्रों में धर्मांतरण भीषण गति से चल रहा हैं. मिलिंद परांडे ने महिला संतो से निवेदन किया कि अपने कार्यक्षेत्रों में सघन संपर्क और प्रवास करें। हिंदुओं को धर्म आस्था से जोड़ने की आवश्यकता हैं। हिंदुओं में पलायन नहीं पराक्रम का भाव भरने की आवश्यकता हैं.वर्तमान समय में हिंदुओं में शोर्य पराक्रम का जागरण, परिवारों में संस्कार देना,परिवार प्रबोधन,कुटुंब प्रबोधन,समाज प्रबोधन करने में महिला संतो की भूमिका महत्वपूर्ण हो जाती है। साध्वी प्रज्ञा भारती ने धर्मांतरण तथा लव जेहाद विषय पर कहा कि धर्म पर हो रहें आघात का प्रतिकार संत समाज को करना चाहिए क्योंकि हिन्दू समाज आज संस्कारों के अभाव में निरीह प्राणी के समान है. संत राष्ट्र धर्म और समाज की रक्षा को जीवन समर्पित करता है. कन्याओं को संस्कारित करने से पूर्व माताओं को संस्कृति और संस्कार की जानकारी देना आवश्यक हैं। संतो को आत्मीयता, सहयोग,संपर्क, प्रवास के माध्यम से समाज को धर्म के प्रति विश्वास और अडिगता सिखाने की आवश्यकता है.महामंडलेश्वर स्वामी साध्वी मैत्रेय गिरी महाराज ने संगोष्ठी में कहा कि सत्संग, कथा, जागरण के माध्यम से हमें समाज का प्रबोधन करना चाहिए। विश्व हिन्दू परिषद की साध्वी संगोष्ठी में प्रमुख रूप से साध्वी राजेश्वरी गुजरात,साध्वी राधिका जबलपुर,साध्वी शोभा रामपुर,साध्वी प्रियाशरण जोधपुर,साध्वी शिरोमणि हरिद्वार,साध्वी चंद्रकला छत्तीसगढ़,साध्वी कल्याणी बंगाल,साध्वी जागृति चेतना,साध्वी ज्योतिर्मय,साध्वी साधना महाराष्ट्र, साध्वी सत्यनिष्ठा राजस्थान, साध्वी निर्मला सतना के साथ अनेक महिला संत साध्वियों ने उक्त विषय पर अपना वक्तव्य प्रस्तुत किया। विश्व हिन्दू परिषद की साध्वी संगोष्ठी के आयोजन में प्रमुख रूप से विश्व हिन्दू परिषद की केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी ताई,प्रज्ञा महाला राष्ट्रीय संयोजिका दुर्गावाहिनी, सरोज सोनी राष्ट्रीय सहसंयोजिका मातृशक्ति,विमला शुक्ला क्षेत्रीय संयोजिका मातृशक्ति,रीना शर्मा क्षेत्रीय संयोजिका दुर्गावाहिनी,संध्या कौशिक प्रांत उपाध्यक्षा विहिप उत्तराखण्ड,नीता कपूर प्रांत संयोजिका मातृशक्ति,नीलम त्रिपाठी प्रांत संयोजिका दुर्गावाहिनी सम्मिलित रही।
नाबालिग के साथ दुष्कर्म के मामले में दोषी को दस वर्ष की कठोर कैद,एक लाख का जुर्माना
हरिद्वार। कनखल थाना क्षेत्र में 13 वर्षीय लड़की से दुष्कर्म के मामले में एडीजे/एफटीएससी न्यायधीश कुमारी कुसुम शानी ने आरोपी युवक को दोषी पाया है। विचारण कोर्ट ने दोषी युवक को 10 वर्ष की कठोर कैद और एक लाख रूपये के अर्थदंड की सजा सुनाई है। दोषी घटना से पूर्व से शादीशुदा और एक पुत्र का पिता है। घटना के समय दोषी अपने जीजा के घर रह रहा था वहीं पर उसमें पीड़िता का भी घर है। शासकीय अधिवक्ता भूपेंद्र चौहान के अनुसार 20 सितंबर 2014 को कनखल क्षेत्र में एक नाबालिग लड़की को बहला-फुसलाकर होटल में ले जाकर दुष्कर्म किया गया था। इस दौरान पीड़ित लड़की के अश्लील फोटो भी खींचे गए थे। वर्ष 2014 से 2018 तक फोटो वायरल करने और उसके परिजनों की हत्या करने की धमकी देकर लगातार दुष्कर्म किया गया। काफी परेशान और तंग होकर पीड़िता ने अपनी माता को सारी आपबीती बताई थी। मामले में पिता ने कनखल पुलिस में आरोपी अमित पुत्र छोटेलाल निवासी कनखल के खिलाफ कई बार दुष्कर्म व जान से मारने की धमकी देने व पोक्सो एक्ट का मुकदमा दर्ज कराया था। कनखल पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। मामले की विवेचना के बाद विवेचक ने आरोपी युवक के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी शासकीय अधिवक्ता ने सरकार की ओर से 10 गवाह पेश किए थे जबकि पक्ष ने 1 गवाह पेश किए। दोनों पक्षों को सुनने के बाद विशेष कोर्ट ने आरोपी को दोषी करार देते हुए दस वर्ष के कठोर कैद की सजा सुनाई साथ ही एक लाख रूपये का अर्थदंड भी लगाया।

स्मैक रखने के दोषी को ढाई वर्ष की कैद,पांच हजार का जुर्माना
हरिद्वार। नगर कोतवाली क्षेत्र में स्मैक के साथ पकड़े गए युवक को विशेष न्यायाधीश एनडीपीएस एक्ट/ अपर सत्र न्यायाधीश अनिरुद्ध भट्ट ने 2वर्ष 6 माह का कारावास और 5000 के अर्थदंड की सजा सुनाई है। शासकीय अधिवक्ता कुशलपाल सिंह चौहान के अनुसार 17 दिसंबर 2020 को कोतवाली नगर क्षेत्र में तैनात सब इंस्पेक्टर देवेंद्र तोमर अपने सहकर्मियों के साथ रोडवेज कारखाने के पास शांति व्यवस्था में मौजूद थे। तभी सूचना मिली कि रेलवे कॉलोनी टाउन हॉल के पास एक व्यक्ति स्मैक लेकर खड़ा है। मुखबिर के इशारे पर पुलिसकर्मियों ने वहां खड़े एक युवक को मौके पर पकड़ लिया। पकड़े गए युवक कुणाल सैनी निवासी इंदिरा बस्ती औद्योगिक क्षेत्र हरिद्वार ने पूछताछ करने पर बताया कि उसके पास में स्मैक है। वह नशा करता है पकड़े गए युवक ने अपने लिए समय खरीदी थी। तलाशी लेने पर आरोपी के कब्जे से 7.5 ग्राम स्मैक बरामद हुई थी। पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था विशेष कोर्ट ने कुणाल सैनिकों के रखने का दोषी पाते हुए 2 वर्ष 6 माह कारावास व पॉच हजार रूपये के अर्थदंड की सजा सुनाई है।
फोटो नं 1 गोकुल सिंह रावत
घाटों की व्यवस्था ठीक करें प्रशासन – गोकुल सिंह रावत
हरिद्वार। उत्तराखंड क्रांति दल महानगर उपाध्यक्ष गोकुल सिंह रावत ने कैंप कार्यालय पर बैठक का आयोजन किया। बैठक मे विचार रखते हुए गोकुल सिंह रावत ने कहा की हरकी पौड़ी गंगा घाटों पर अवस्थाएं फैली है। यात्रियो को भारी दिक्कतों का सामना करना पड रहा है। गंगा घाटो पर अवैध रूप से पार्किंग, लघु व्यापारियों की ठेलिया व् जगह जगह अन्य राज्यों से गंगा घाटों पर व्यापार कर रहे लोगो का सत्यापन हो कई जगाहों पर लंगर बाट रहे है जिससे घाटों पर गन्दगी तो होती ही है। साथ ही किसी दिन बड़ा हादसा भी हो सकता है। गंगा घाटों को साफ रखना आम नागरिकों की जिमेदारी भी बनती है। गोकुल सिंह रावत ने मांग की है कि बाहरी लोगो का सत्यापन शीघ्र किया जाये गंगा घाटों पर असमाजिक तत्वों पर लगाम लगे जिससे बाहर से आने वाले या़ित्रयो को परेशानियो का सामना ना करना पडे।
फोटो नं 2 श्रद्धांजलि सभा के दौरान
श्रद्धांजलि सभा आयोजित कर दी श्रद्धांजलि
हरिद्वार। मायापुर स्थित भवन में प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु की पुण्यतिथि के अवसर पर महानगर कांग्रेस द्वारा श्रद्धांजलि सभा आयोजित कर पुष्पांजलि अर्पित की सभा की अध्यक्षता ग्रामीण जिलाध्यक्ष राजीव चौधरी ने की। इस अवसर पर महानगर अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी और महानगर कार्यकारी अध्यक्ष अमन गर्ग ने कहा कि पंडित जवाहरलाल नेहरू को सच्ची श्रद्धांजलि यही होगी कि हम उनके बताए मार्ग पर चलकर देश को आगे ले जाने का काम करेंगे प्रदेश कांग्रेस सदस्य मुरली मनोहर एंव पूर्व अध्यक्ष ओपी. चौहान ने कहा कि नेहरू को सच्ची श्रद्धांजलि यही होगी कि हम उनके द्वारा देश के निर्माण के लिए स्वतंत्रता संग्राम के आंदोलन से लेकर देश की आजादी के बाद देश को आगे बढ़ाने के लिए सरकारी संस्थानों का निर्माण कर देश को आगे बढ़ाने मे उनकी भूमिका को जन-जन तक पहुंचाने का काम करें, पार्षद राजीव भार्गव और वरिष्ठ कांग्रेस नेता सोम त्यागी ने कहा कि पंडित जवाहरलालन नेहरू ने 1947 में जब देश आजाद हुआ तब हमारे देश में सुई भी नहीं बनती थी और पंडित नेहरू के दूरदर्शी नेतृत्व में हमनें सरकारी संस्थानों का निर्माण कर देश के विकास की नींव रखी, श्रद्धांजलि सभा में मुख्य रूप से मुकुल जोशी, जिला महासचिव यूथ कांग्रेस शुभम जोशी, भूपेंद्र पटुवर, ब्लाक अध्यक्ष विकास चंद्रा,जतिन हाण्डा,रकित वालिया,राजेन्द्र भारद्वाज,विजय प्रजापति,धनीराम शर्मा नीटू,रियाजुल अली,मनीष सैनी,हरद्वारी लाल,सोनू लाला,राजेन्द्र जाटव, ओम मलिक, अशोक गुप्ता,नरेंद्र उपाध्याय,लक्ष्मण हाण्डा, संजय वाल्मीकि मौजूद रहे।
फोटो नं 3 जानकारी देते हुए
सालों पुराने हैं मठ-मन्दिरों को हटाने से पहले राज्य सरकार पुनर्विचार करे-श्री मंहत रविन्द्रपुरी
हरिद्वार। अखाड़ा परिषद के संतों ने सीएम धामी से मिलकर प्रस्ताव रखा कि उत्तराखंड में ऐसे मठ मंदिर जो कि सालों पुराने हैं और इन मन्दिरो से लोगों की धार्मिक आस्था जुड़ी है इनको हटाने से पहले राज्य सरकार पुनर्विचार करें और हो सके तो इन धार्मिक स्थलों को सशुल्क पट्टे पर दे दिया जाए.. जिससे धार्मिक आस्था से जुड़े मठ मंदिरों की रक्षा हो सके। अखाड़ा परिषद अध्यक्ष एंव श्री पंचायती अखाडा महानिर्वाणी अखाडे के संचिव महंत रविंद्रपुरी एंव महामंत्री श्री मंहत राजेन्द्र दास ने बैरागी कैम्प मे जानकारी देते हुए बताया की उन्होने मुख्यमंत्री धामी से मिलकर यह प्रस्ताव रखा। सीएम धामी ने भी अखाड़ा परिषद को राज्य सरकार की ओर से मठ मन्दिरो को बचाने के लिए हर संभव मदद का आश्वासन दिया। संतों ने सीएम से अपील की कि राज्य भर के मंदिरों मठों की वे रक्षा करें क्योंकि धर्म की रक्षा करना राजा का परम कर्तव्य है बैरागियांे की भूमि को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गमभीरता से लेते हुए अखाडा परिषद के संतो को पुरा भरोसा दिलाया ओर कहा कि इसको लेकर शिध्र प्रस्ताव लाकर बैरागी संतो के साथ इंसाफ किया जायेगा। सभी संत महापुरूष हमारे लिए पूजन्य है।