धूमधाम से निकली रामायण शोभायात्रा, ग्रामीणों ने किया जोरदार स्वागत

2 दिन तक चलेगा धूम धाम से कार्यक्रम

हरिद्वार। श्री श्री बालाजी धाम, सिद्धबलि हनुमान, नर्मदेश्वर महादेव मंदिर में हनुमान जन्मोत्सव धुमधाम से मनाया जा रहा है। दो दिन तक चलने वाले कार्यक्रम के पहले दिन शुक्रवार को पीठाधीश्वर स्वामी आलोक गिरी के नेतृत्व में रामायण शोभायात्रा धूमधाम से निकली गई। जिसमें संत महंतों के साथ रानीपुर विधायक आदेश चौहान और आम भक्तजनों ने श्रद्धा और उल्लास के साथ भाग लिया। शोभायात्रा के मार्ग में ग्रामीणों ने पुष्प वर्षा और संतों को माला पहनाकर जोरदार स्वागत किया। रामायण शोभायात्रा का आकर्षण विशालकाय हनुमान , महर्षि बाल्मिकी, डीजे पर भगवान भोलेनाथ, पार्वती का नृत्य, कलश के साथ मौजूद नंगे पांव चलतु श्रद्धालु महिलाएं, अखाड़े के संतों के साथ रथ पर विराजमान अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद एवं मंशा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत रवींद्र पुरी महाराज और जनसमूह के बीच रानीपुर विधायक आदेश चौहान की मौजूदगी रही। शोभायात्रा के समापन पर महंत रवीन्द्र पुरी महाराज ने कहा कि सिद्धबली हनुमान मंदिर में हर वर्षों की भांति इस वर्ष भी स्वामी आलोक गिरी की प्रेरणा से हनुमान जन्मोत्सव मनाया जा रहा है।‌ इसके लिए वे स्वामी आलोक गिरी को धन्यवाद देते हैं। महंत रवींद्र पुरी महाराज ने कहा कि हनुमान जीवित देवता का दर्जा दिया गया है जो भक्तों के संकट में स्वयं उपस्थित होकर समाधान करते हैं। हनुमान जी की साधना करने वाले व्यक्ति का कभी अहित नहीं हो सकता। भूत प्रेत रोग शोक जैसी तमाम व्याधियां हनुमान जी के नाम से ही दूर भागती है। कष्टों से निवारण का सर्वश्रेष्ठ उपाय हनुमान की आराधना ही है।‌
रानीपुर विधायक आदेश चौहान ने कहा कि संतो की सत्संग से ही मनुष्य में अच्छे विचारों का उद्भव होता है। संत साधक होते हैं और अपनी साधना से जगत के कल्याण का मार्ग प्रशस्त करते हैं। इसलिए संतों के प्रति सदैव आधार का भाव रखना चाहिए। एवं अपनी ओर से यथासंभव उनके कार्यों में सहयोग करना चाहिए। ‌रामायण शोभायात्रा में शामिल होकर वह स्वयं को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। ‌महंत आलोक गिरी ने कहा कि हनुमत कृपा और उनके भक्तों के सहयोग से ही ही आयोजन संभव हो सका है इसके लिए वह इस आयोजन में सहयोग करने वाले सभी भक्तजनों का हार्दिक आभार व्यक्त करते हैं। इस मौके पर महंत केदार गिरी, स्वामी नरेश गिरी, स्वामी नीरज गिरी, स्वामी राम कुमार गिरी, स्वामी कुलदीप गिरी, आनंद भैरव के पुजारी, सागर गिरी, मनकामेश्वर गिरी, पार्षद नागेंद्र राणा, पार्षद विकास कुमार, शशि शर्मा, पं विनय मिश्रा, विकास कुमार झा, ओमपाल, सुशील धीमान, संदीप प्रधान, ठेकेदार विष्णु देव, कामेश्वर यादव, राम सागर जायसवाल, राहुल शर्मा, अनिल मिश्रा, प्रदीप चौधरी, सहित अन्य लोग मौजूद रहे।