शहीदों के बलिदानों से मिली आजादी को बनाए रखने के लिए एकजुट रहने की जरूरत
हरिद्वार। शहीदे आजम भगत सिंह के शहीदी दिवस पर वाम मोर्चा कार्यकर्ताओं ने उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। श्रद्धांजलि देने के लिए भगत सिंह चैक पर एकत्र हुए कार्यकर्ताओं ने शहीद भगत सिंह के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उनके दिखाए मार्ग का अनुसरण करते देश सेवा का संकल्प लिया। इस दौरान एटक के प्रदेश अध्यक्ष एवं सीपीआई नेता कामरेड एमएस त्यागी ने कहा कि शहीदों के बलिदानों से मिली आजादी को बनाए रखने के लिए सभी को एकजुट होकर प्रयास करने होंगे। कामरेड एमएस वर्मा, कामरेड मुनरिका यदव सीपीआई के जिला मंत्री कामरेड विजय पाल आदि ने कहा कि शहीदे आजम भगत सिंह का मानना था कि देश को आजादी मिलने के बाद भविष्य मेहनतकश मजदूरों का होगा। अन्याय पर आधारित व्यवस्था बदलेगी। लेकिन हो इसके उलट रहा है। आज भी मजदूरों को उनके अधिकारों से वंचित किया जा रहा है। एटक हीप के महामंत्री संदीप चैधरी ने कहा कि शहीदों के सपनों को साकार करने के लिए सभी को एकजुट होकर सहयोग करना होगा। आज किसान और मजदूर गंभीर संकट का सामना कर रहे हैं। तीन कृषि कानूनों के जरिए किसानों को बड़े पंूजीपतियों का गुलाम बनाने का रास्ता तैयार किया जा रहा है। इसके विरोध में चल रहे किसान आंदोलन की अनदेखी की जा रही है। श्रम कानूनों में बदलाव कर मजदूरों की स्थिति बंधुआ मजदूर जैसी बनायी जा रही है। महंगाई चरम पर है। लेकिन सरकार जनता की आवाज को सुनने को तैयार नहीं है। लोकतंत्र की आड़ में तानाशाही चलायी जा रही है। सार्वजनिक संस्थानों का निजीकरण किया जा रहा है। इस दौरान संदीप चैधरी, सौरभ त्यागी, भगवान जोशी, मनमोहन, रविप्रताप राय, आईडी पंत, साकेश वशिष्ठ, कालूराम जैपुरिया, केपी सिंह, केके लाल, घनश्याम, विक्रम सिंह नेगी, पवन शर्मा, सुभाष त्यागी आदि कार्यकर्ता शामिल रहे।