गुरु पर्व पर, शांतिकुंज में तीन दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय पावन गुरुपूर्णिमा का आज विधिवत् शुभारंभ हुआ। गुरुवार को प्रातः सद्गुरु युगऋषि पं. श्रीराम शर्मा आचार्य को समर्पित प्रभात फेरी निकाली गयी। इसमें गुरु महिमा गान के साथ उनके बताये सूत्रों को व्यावहारिक जीवन में अपनाने की अपील की गयी। दोपहरकालीन सभा में श्रीमती शैफाली पण्ड्या ने कहा कि शक्ति सम्पन्न गुुरु अपने शिष्यों के लौकिक व पारलौकिक क्षमताओं को विकसित करता है। ऐसे ही हमारे सद्गुरु पूूज्य पं. श्रीराम शर्मा आचार्य जी ने अपना जीवन समाज की भलाई तथा सांस्कृतिक व चारित्रिक उत्थान के लिये समर्पित कर दिया। उन्होंने आधुनिक व प्राचीन विज्ञान व धर्म का समन्वय करके आध्यात्मिक नवचेतना को जगाने का कार्य किया, ताकि वर्तमान समय की चुनौतियों का सामना किया जा सके। श्रीमती सुधा महाजन, श्रीमती अनामिका दुबे ने भी गुुरु की महिमा का गान करते हुए सद्गुरु युगऋषि पं0 श्रीराम शर्मा आचार्य एवं माता भगवती देवी शर्मा के विभिन्न संस्मरणों को याद किया। वहीं लोकरंजन से लोकमंगल एवं लोकशिक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत सांस्कृतिक संध्या के दौरान ईश्वरचन्द्र विद्यासागर की उदारता, एक जमींदार की सेवा, समाज सुधारकों का निःस्वार्थ सेवा भाव आदि की प्रेरणाप्रद प्रस्तुती हुई। एक अन्य कार्यक्रम में कुरीति एवं भ्रष्टाचार पर कुठाराघात किया गया। इस अवसर पर संगीत विभाग के भाइयों ने ओजपूर्ण गीत प्रस्तुत किये। आज के सभी कार्यक्रम आनलाइन प्रस्तुत किये गये। इसमें देश-विदेश के हजारों परिजन जुड़े।