कांग्रेसियों ने किया निगम अधिकारियो के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

नगर निगम हरिद्वार परिसर में धूल फांक रहे करोड़ों के कूड़ेदान में पानी भरने से काफी मात्रा में डेंगू का लार्वा और कीड़े पैदा होने पर कांग्रेसियों का अधिकारियों पर गुस्सा फूट पड़ा। कांग्रेसियों ने नगर निगम में अफसरों के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर विरोध प्रदर्शन किया। आरोप लगाया कि अधिकारी लापरवाही बरतते हुए धन की बंदरबांट कर रहे हैं। इससे निगम के कर्मचारियों के भी डेंगू की चपेट में आने का खतरा बना हुआ है। मंगलवार को नगर निगम में लोगों की समस्याओं को लेकर चक्कर कटवाने की शिकायत पर पहुंचे मेयर प्रतिनिधि अशोक शर्मा और कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की नजर कूड़ेदानों पर पड़ गई। कूड़ेदानों में देखा तो पानी भरा होने से डेंगू का काफी लार्वा मिला। जबकि कीड़े भी पैदा हो गए। नाला क्लीन मशीन में घास उग गई थी। इसको लेकर कांग्रेसियों में गुस्सा फूट पड़ा। पहले कूड़ेदानों से पानी बाहर फेंका गया। इसके बाद नगर आयुक्त के खिलाफ नगर निगम में नारेबाजी कर विरोध प्रदर्शन किया गया। मेयर प्रतिनिधि अशोक शर्मा ने कहा कि नगर आयुक्त जनता के साथ धोखा कर रहे हैं। कुंभ मेले में करोड़ो के हजारों कूड़ेदान निगम परिसर में पड़े धूल फांक रहे हैं। नाला साफ करने वाले वाहन भी बेतरतीब तरीके से खड़े कर दिए गए। उनमें घास उग आई है, डेंगू के लार्वा भी काफी मात्रा में पैदा हो गया है। लेकिन नगर आयुक्त इस तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं। पार्षद राजीव भार्गव, नावेज अंसारी ने कहा कि नगर निगम में अधिकारी धन की बंदरबांट कर रहे हैं। करोड़ों रुपये का सामान बर्बाद किया जा रहा है। कूड़ेदान में बरसात का पानी जमा होने से डेंगू का खतरा बन रहा है। ऐसे अधिकारियों को निगम से तत्काल हटाना चाहिए। कांग्रेस के अनुसूचित विभाग के जिलाध्यक्ष सुनील कुमार ने कहा कि मेयर से बिना पूछे अधिकारी सामान को खुर्दबुर्द कर रहे हैं। मेयर और बोर्ड की अनुमति के बिना अधिकारी निगम का सामान भाजपा के लोगों को बांट रहे हैं। प्रदर्शन करने वालों में पार्षद सुहेल अख्तर, उदयवीर सिंह चैहान, हरद्वारी लाल, नीलम शर्मा, सुनील कुमार, संगम शर्मा, प्रबोध बंसल, विजय ठाकुर, अरविंद चैहान, नीटू शर्मा, सतेंद्र वशिष्ठ, मनोज जाटव, शंकर खन्ना, सुमित भाटिया, विशाल काटी, नकुल महेश्वरी, रजत कुमार, संदीप कुमार आदि शामिल रहे।