विदाई समारोह: कोरोना की चुनौती जब-जब आती है हम इकट्ठा हो जाते हैं – सी.रविशंकर, पूर्व जिलाधिकारी

पूर्व जिलाधिकारी, हरिद्वार श्री सी0 रविशंकर का विदाई समारोह ऋषिकुल आॅडिटोरियम में आयोजित हुआ। रेडक्रास सोसाइटी, हरिद्वार द्वारा आयोजित चैम्पियन आॅफ चेंज के आज की विशेष कड़ी में चैम्पियन आॅफ चेंज के मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुये श्री सी0 रवि शंकर ने कहा कि जिस समय मैंने जिलाधिकारी का कार्यभार ग्रहण किया था, उस समय विदेशों से कोविड-19 की खबरें आ रही थी तथा स्वास्थ्य विभाग की बैठकों में इस सम्बन्ध में विचार-विमर्श चल रहा था, लेकिन धीरे-धीरे आवा-गमन बढ़ने से यह इतना बड़ा रूप ले लेगा, यह किसी को पता नहीं था। उन्होंने कहा कि हमारे सभी पदाधिकारीगण अपने-अपने कार्य में हमेशा सक्रिय रहे। उन्होंने कहा कि यह देवभूमि है, यहां धीरे-धीरे सभी अच्छे लोग व एन0जी0ओ0 इकट्ठा होने लगे। उन्होंने कहा कि कोरोना की चुनौती जब-जब आती थी, हम एक हो जाते थे। उन्होंने कहा कि जिसका जैसा काम था, उसने अपनी भूमिका काफी अच्छी तरह निभाई। उन्होंने कहा कि प्रवासियों को उनके गन्तव्य तक पहुंचाना भी शुरू में एक बहुत बड़ी चुनौती थी। उन्होंने इस अवसर पर कोरोना के समय आंगनबाड़ी तथा आशा वर्कर द्वारा किये गये कार्यों की सराहना की।
श्री सी0 रवि शंकर ने महाकुम्भ का जिक्र करते हुये कहा कि महाकुम्भ विश्व का सबसे बड़ा धार्मिक पर्व है, जिसके आयोजन में हर स्तर पर जिला प्रशासन की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। कोविड, कुम्भ आदि चुनौतियों के कारण हम शिक्षा आदि महत्वपूर्ण कार्यक्रमों पर उतना ध्यान नहीं दे पाये।
चैम्पियन आॅफ चेंज की विशेष कड़ी में पूर्व जिलाधिकारी से श्री सौरभ सारस्वत ने उनकी शिक्षा-दीक्षा आदि के बारे में पूछा, विद्या मन्दिर गु्रप के श्री सन्दीप खन्ना ने कोविड के दौरान जो चलेंज आये, उसके बारे में उनके विचार जाने, टीम जीवन ने पूर्व जिलाधिकारी के हर स्तर पर सहयोग प्रदान करने की सराहना की, कश्यप दल फाउण्डेशन के श्री अरूण कश्यप ने उनकी लगातार कार्य करते रहने की क्षमता के बारे में पूछा, मुस्कान फाउण्डेशन ने उनसे पूछा कि जो आप हरिद्वार के लिये करना चाहते थे, वह कर पाये कि नहीं आदि के सम्बन्ध में पूछा। इस पर पूर्व जिलाधिकारी ने कहा कि कई कार्य मैं हरिद्वार जनपद के लिये करना चाहता था जैसे हरित हरिद्वार, घाट प्रबन्धन, हैलीपैड, साउण्ड एण्ड लाइट सिस्टम आदि।
कार्यक्रम में इस तरह अन्य संस्थाओं जैसे-स्वामी विवेकानन्द जनहित ट्रस्ट, रोटरी क्लब रूड़की, श्री अग्रवाल महासभा, आदर्श युवा समिति, सुप्रयास कल्याण समिति, टीम बन्धु, स्वामी नारायण सेवा मिशन, राजघाट वेलफेयर सोसाइटी, शिव कला फाउण्डेशन, पिरामल फाउण्डेशन, स्वामी विवेकानन्द जनहित ट्रस्ट, नई उड़ान फाउण्डेशन, ब्लड वाॅलेंटियर गु्रप, एण्टी कोरोना टास्क फोर्स, सर्व समाज सेवा संगठन आदि ने भी पूर्व जिलाधिकारी से विभिन्न मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान किया, जिसका उन्होंने बेकासी तर्क सहित जवाब दिया।
मुख्य अतिथि श्री सी0 रवि शंकर ने कहा कि मैं आप सभी को दिल से धन्यवाद देना चाहूंगा। उन्होंने कहा कि हम लोग परिवार की तरह जुड़े थे और जुड़े रहेंगे। उन्होंने कहा कि चैम्पियन आॅफ चेंज लगातार चलता रहना चाहिये। हरिद्वार मेडिकल काॅलेज का जिक्र करते हुये उन्होंने कहा कि मेडिकल काॅलेज में पहला बैच शीघ्र ही प्रारम्भ हो जायेगा। उन्होंने कहा कि मैं हरिद्वार से हृदय से जुड़ा हूं। उन्होंने स्वयं सेवी संस्थाओं से कहा कि जिस तरह कोविड में आपने बहुत अच्छी तरह से काम किया, अगर सामान्य अवधि में भी उसी तरह कार्य किया तो, समाज में काफी बदलाव आयेगा, परिणामस्वरूप एक नया हरिद्वार सामने आयेगा।
इस अवसर पर सभी स्वयं सेवी संस्थाओं ने टोकन आॅफ रिस्पेक्ट के रूप में पूर्व जिलाधिकारी को प्रतीकात्मक रूप में पेण्टिंग, पुष्पगुच्छ आदि भेंट किये।
इस मौके पर सचिव, हरिद्वार विकास प्राधिकरण डाॅ0 ललित नारायण मिश्र ने स्वयं सेवी संस्थाओं को पांचवे स्तम्भ की संज्ञा दी।
अपर जिलाधिकारी(वित्त एवं राजस्व) श्री के0के0 मिश्रा ने पूर्व जिलाधिकारी के कुशल नेतृत्व की सराहना की।
डाॅ0 नरेश चैधरी, सेकेट्री, रेडक्रास सोसाइटी हरिद्वार ,होम्योपैथी अधिकारी डाॅ0 विकास ठाकुर, नोडल अधिकारी, एन0जी0ओ0 श्री नरेन्द्र यादव, प्लान इण्डिया के श्री राम ने पूर्व जिलाधिकारी की कार्यशैली तथा समाज में प्रत्येक व्यक्ति की भूमिका खासतौर स्वयं सेवी संस्थाओं आदि के सम्बन्ध में अपने-अपने विचार व्यक्त किये।
सुश्री तारा काण्डपाल, पिरामल फाउण्डेशन ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया।

………………………….