दु:खद : सांड के हमले से घायल महिला, इलाज को लेजाते, रास्ते में मौत

 

नैनीताल जिले के कालाढूंगी थाना क्षेत्र के कमलुआगांजा में आवारा सांड ने महिला को मार डाला। सांड गायों के साथ महिला के घर में आया था। भगाने के दौरान सांड ने महिला पर ही हमला कर दिया। हल्द्वानी इलाज को लाते समय उसकी रास्ते में मौत हो गई। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है। महिला की मौत के बाद से स्वजनों में कोहराम मचा हुआ है।

भीमपुरी कमलुआगांजा निवासी दयाल चंद्र मजदूरी करता है। उसने बताया कि मंगलवार की शाम छह बजे उसकी 33 वर्ष पत्नी दीपा देवी घर थी। मंगलवार को रोजाना की तरह उसकी गाय जंगल से चरने के बाद घर आई। गायों के साथ एक आवारा सांड भी उनके घर आ गया। महिला ने डंडा लेकर सांड को भगाने का प्रयास किया तो सांड ने उसपर हमला कर दिया। महिला की जांघ पर सींग मारकर उसे फेंक दिया। गंभीर हालत में घायल को इलाज के लिए कालाढूंगी अस्पताल लेकर लाया गया। प्राथमिक उपचार के बाद उसे हल्द्वानी रेफर कर दिया गया। रास्ते में ही महिला ने दम तोड़ दिया।

मृतका के पड़ोसी सुनील कुमार का आरोप है कि महिला के घायल होने की सूचना एंबुलेंस को दी गई। मगर एक घंटे तक एंबुलेंस नहीं आई। इसके बाद वह अपनी कार से महिला को इलाज के लिए कालाढूंगी लाया। वहां भी इलाज के दौरान कर्मचारियों ने लापरवाही बरती। मात्र गुलकोज चढ़ाकर महिला को हल्द्वानी के लिए रेफर कर दिया गया। समय से एंबुलेंस नहीं व अच्छा इलाज न होने मिलने पर महिला की मौत हुई। समय पर एम्बुलेंस आती तो उसे बचाया जा सकता था(GS)