दुर्घटना: अलग-अलग हादसों मे बाइक सवार सात कांवड़ियों की मौत,एक का उपचार जारी

हरिद्वार। डाक कांवड़ के चरम पर पहुचने के बीच रविवार का दिन कावड़ियों के लिए दर्दभरा रहा। कांवड़ यात्रा के दौरान तीन अलग-अलग दुर्घटनाओं में सात कांवड़ियों की मौत हो गई। पहली घटना प्रेमनगर आश्रम चौक के पास हुई जहां दो दोपहिया वाहनों की भिड़त में तीन कांवड़ियों की मौत हो गई,दो मृतकों की शिनाख्त नहीं हुई है। दूसरी घटना मे रविवार तड़के बैरागी कैंप में डाक कांवड़ के वाहन ने जमीन पर सो रहे दो कांवड़ियों को कुचल दिया। इस दौरान गुस्साए कांवड़ियों ने जमकर हंगामा किया। वहीं तीसरी घटना रुड़की-हरिद्वार हाईवे स्थित कोर कॉलेज के पास शनिवार देर रात कार की टक्कर से बाइक सवार दो कांवड़ियों की मौत हो गई। पुलिस के अनुसार पहली दुर्घटना प्रेमनगर आश्रम चौक के पास घटित हुई। एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार सिंह के अनुसार दो मोटरसाइकिलों की आमने-सामने की भिड़त हुई। कांवड़ियों को गंभीरवस्था में तुरंत आनन-फानन में जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां एक कांवड़िए को मृत घोषित कर दिया, जबकि तीन कांवड़ियों को एम्स ऋषिकेश रेफर कर दिया। एसपी सिटी ने बताया कि एम्स में उपचार के दौरान दो कांवड़ियों की भी मौत हो गई,जबकि एक कांवड़िए का इलाज चल रहा है। उन्होंने बताया कि जिला अस्पताल में मृत घोषित हुए कांवड़िए की पहचान विनय पुत्र राम सुमेर निवासी गांव पासवाला चरोहा कौशांबी यूपी के रूप में हुई,जबकि एम्स में दम तोड़ने वाले कांवड़ियों की पहचान के प्रयास जारी है। वहीं, रविवार तड़के बैरागी कैंप में डाक कांवड़ वाहन निकाल रहे कांवड़ियों से भरा ट्रक नीचे जमीन पर सो रहे दो कांवड़ियों के ऊपर चढ़ गया। कांवड़ियों की चीख पुकार सुनकर उनके साथी कांवड़िए एकत्र हो गए, जिन्होंने हंगामा खड़ा कर दिया। कांवड़ियों के कुचलने की सूचना पर पुलिस महकमे मे हड़कम्प मच गया। आनन-फानन में सीओ अनुज कुमार अपना वाहन लेकर तुंरत मौके पर पहुंचकर तत्काल कांवड़ियों को अपने वाहन में लेकर जिला अस्पताल पहुंचे लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार सिंह के अनुसार कांवड़ियों की पहचान योगेश कुमार 21 वर्ष निवासी ग्राम रामपुर खरखोदा सोनीपत और दीपांशु 22 वर्ष निवासी गांव कुंडल जिला सोनीपत हरियाणा के रूप में हुई। इस संबंध में कांवड़ियों के साथी विशाल ने आरोपी डाक कांवड़ वाहन चालक के खिलाफ कनखल थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। एसपी सिटी के अनुसार दुर्घटना के संबंध में पुलिस कार्रवाई कर रही है। दिन का तीसरा हादसा रुड़की-हरिद्वार हाईवे स्थित कोर कॉलेज के पास हुआ। जब शनिवार देर रात बदायूं निवासी तीन बाइक सवार हरिद्वार जल लेने जा रहे थे। जैसे ही उनकी बाइक कोर कॉलेज से आगे रतमऊ नदी के पुल पर पहुंची तो हरिद्वार की तरफ से आ रही कार से उनकी आमने-सामने की टक्कर हो गई। हादसे में चंद्रपाल (35) पुत्र हेमराज की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि शिवम (18) पुत्र बनवारी लाल ने अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में ही दम तोड़ दिया। बहादराबाद थाना प्रभारी नितेश शर्मा के अनुसार चंद्रपाल और शिवम, निवासीगण रसूलपुर थाना सहसवान बदायूं, की मौत हो गई, जबकि इनके साथी घायल नेकराम पुत्र बाबू राम को अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां उसका इलाज चल रहा है। फिलहाल मुकदमा दर्ज करने की कारवाई जारी है।

दो अलग अलग जगहों पर 16दुपहिया वाहन जलकर राख

हरिद्वार। रविवार को नगर मे दो जगहों पर अचानक आग लगने से कांवड़ियों के 16 दोपहिया वाहन जल गए। आग लगने की वजह वाहन का गर्म होना बताया जा रहा है। अग्निशमन वाहन के पहुंचने तक कांवड़ियों के वाहन पूरी तरह जलकर खाक हो चुके थे। गनीमत रही कि किसी भी दोपहिया वाहन पर कोई कांवड़िया सवार नहीं था। आग लगने की पहली घटना ओमपुल के पास हुई। यहां खड़ी एक बाइक ने अचानक आग पकड़ ली। आग लगते ही अफरातफरी मच गई। जब तक आग बुझाने की कोशिश की जाती तब तक विकराल लपटों ने पास में ही खड़ी तीन अन्य मोटरसाइकिलों को भी चपेट में ले लिया। कांवड़िए इधर-उधर हो गए। सूचना मिलने पर पुलिस तुरंत पहुंच गई। पुलिस ने कांवड़ियों को तितर-बितर किया। जब तक दमकल वाहन पहुंचा तब तक वाहन जल चुके थे। वहीं दूसरी तरफ रोड़ीबेलवाला में भी खड़ी की गई एक बाइक से लगी आग ने एक-एक कर 11 दोपहिया वाहन को चपेट में ले लिया। अग्निकांड में आठ बाइक, एक स्कूटर और एक मोपेट जल गया। सूचना मिलने पर सीसीआर भवन के पास मौजूद दमकल वाहन पहुंचा,लेकिन तब तक सभी दोपहिया वाहन पूरी तरह से जल चुके थे। नगर पुलिस अधीक्षक स्वतंत्र कुमार सिंह के अनुसार आग लगने की वजह वाहन का गर्म होना सामने आ रहा है। वाहन किन कांवड़ियों के थे,इस संबंध में जानकारी हासिल की जा रही हैं। अभी तक कोई सामने नहीं आया है, दोनों ही स्थानों पर कुल 16 दोपहिया वाहन जले हैं।