ताजा खबर: हरिद्वार जनपद की खास खबरें यहां देखें

सरकार शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में कई योजनाओं का संचालन कर रही है-पुष्कर सिंह धामी

केन्द्रीय मंत्री के साथ मुख्यमंत्री ने किया डिवाइन कॉलेज ऑफ नर्सिंग पैरामेडिकल का लोकापर्ण

हरिद्वार। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखंड के मुख्य सेवक के रूप में मेरा यह प्रयास रहता है कि हमारी सरकार शिक्षा एवं स्वास्थ, के क्षेत्रों में कार्य कर रहे किसी भी संस्थान की हर संभव सहायता कर सकें। उन्होंने कहा केंद्र सरकार के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में उत्तराखंड सरकार भी शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में कई योजनाओं का संचालन कर रही है। मुख्यमंत्री यहां मंगलवार को नौआबाद श्यामपुर,हरिद्वार में दिव्य प्रेम सेवा मिशन द्वारा निर्मित्त डिवाइन कॉलेज ऑफ नर्सिंग एंड पैरामेडिकल साइंसेज के प्रथम चरण का लोकापर्ण करने के बाद उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा हमारी सरकार का संकल्प है कि 2025 में जब युवा उत्तराखंड अपनी स्थापना का रजत जयंती वर्ष मना रहा होगा, तब तक उत्तराखंड हर क्षेत्र में भारत का सर्वश्रेष्ठ राज्य बने। इस विकल्प रहित संकल्प की सिद्धि के लिए हमारी सरकार निरंतर कार्य कर रही है। लोकापर्ण समारोह में मुख्यमंत्री श्री धामी ने भवन निर्माण में अपना अहम योगदान देने वाले लोगों को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित भी किया। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि दिव्य प्रेम सेवा मिशन संस्थान द्वारा किए जा रहे कार्यों के बारें में जितना भी कहा जाए,उतना कम है। उन्होंने कहा मुझे छात्रकाल से ही दिव्य प्रेम सेवा मिशन के अध्यक्ष आशीष भैया का दिव्य सानिध्य प्राप्त होता रहा है। समाज को शिक्षा और चिकित्सा जैसे क्षेत्रों में सहयोग प्रदान करने का जो संकल्प आशीष जी ने लिया है, उसी का परिणाम है कि आज हम इस विशिष्ट संस्थान को इस स्वरूप में देख पा रहे हैं। चिकित्सा-शिक्षा क्षेत्र में स्वामी विवेकानंद हैल्थ मिशन के तत्वावधान में उत्तराखंड के युवाओं को शिक्षित करने का जो बेड़ा दिव्य प्रेम सेवा मिशन ने आरंभ किया है उसके लिए देवभूमि की समस्त जनता इस मिशन से जुड़े हुए प्रत्येक स्वयंसेवक की आभारी । उन्होंने कहा आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में रक्षा, शिक्षा, चिकित्सा जैसे हर क्षेत्र में युगांतकारी परिवर्तन हो रहा है,आज भारत विश्व का नेतृत्व करने की दिशा में बढ़ रहा है। उन्होंने कहा हवाई कनेक्टिविटी,रेल,सड़क हर क्षेत्र में कार्य तीव्र गति से हो रहा है। उन्होंने कहा हमारी डबल इंजन की सरकार द्वारा हर क्षेत्र में जो विकास के कार्य किये जा रहे हैं, उसका जमीनी असर भी दिखने लगा है। केन्द्रीय मंत्री महेन्द्रनाथ पाण्डेय ने कहा कि जो देवभूमि देश के लिए तीर्थाटन,पर्यटन, के साथ-साथ हर क्षेत्र मे ंविकसित राज्य की तरफ आगे बढ़ रहा है और उसमें आज एक ‘‘डिवाइन कॉलेज ऑफ नर्सिंग एण्ड पैरामेडिकल साइन्सेस’’एक अहम पड़ाव है। यह एक सेवा का अवसर है। उन्होंने कहा कि आज के इस अमृतकाल मे देश के लोगों का जीवन स्तर कैसे बेहतर हो, देश आत्मनिर्भर कैसे हो इसके लिए पैरामेडिकल कॉलेज की स्थापना की गई है। स्वास्थ्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व एवं मुख्यमंत्री श्री धामी के कुशल मार्गदर्शन में हमारी सरकार स्वास्थ्य के क्षेत्र में कई बड़े एवं ऐतिहासिक कार्य कर रही है। उन्होंने कहा हमारे प्रदेश में अटल आयुष्मान योजना के अंतर्गत प्रत्येक प्रदेशवासी को मुफ्त में इलाज देने का कार्य किया जा रहा है, जिसके तहत अभी तक राज्य के 50 लाख से अधिक आयुष्मान कार्ड बन गए हैं एवं 6 लाख से अधिक मरीजों का मुक्त में ईलाज करवाया जा चुका है। कहा उत्तराखंड राज्य के प्रत्येक जिले में डायलिसिस का इलाज मुफ्त में किए जाने का कार्य प्रारंभ हो चुका है जिसे जल्द ही पूर्ण कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा मुख्यमंत्री श्री धामी के नेतृत्व में हमने संकल्प लिया है कि हम उत्तराखंड को जल्द ही टीबी मुफ्त करेंगे एवं एयर-एंबुलेंस का विस्तार भी उत्तराखंड में किया जा रहा है। कार्यक्रम का समापन करते हुए पंतजलि योगपीठ के अध्यक्ष स्वामी रामदेव ने कहा कि जब कोई पवित्र संकल्प लेकर के आगे बढ़ता है तो सारी देवात्माओं का आषीष उसको मिलता है। शून्य से सजृन की, सेवा के महायज्ञ की भाई आषीष जी ने जो श्रृंखला आरंभ की है वो अब गंगा के किनारे से होते-होते अब इस गांव तक पहुंच गई है। एक वर्ष में इस कॉलेज आरंभ हो जाना यह अपने आप में अतुलनीय है। डिवाइन कॉलेज ऑफ नर्सिंग एण्ड पैरामेडिकल साइन्सेस के चैयरमेन संजय चतुर्वेदी ने कहा कि यह कॉलेज समाज के गरीब वर्ग के लोगों के लिए उचित शिक्षा,चिकित्सा एवं रोजगार के अवसर प्रदान करेगा और पहाड़ के लोगों के लिए यह पैरामेडिक कॉलेज मील का पत्थर साबित होगा। आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि दिव्य प्रेम सेवा मिशन का मकसद समाज की सेवा है। उन्होंने कहा सेवा के कार्य हेतु मनुष्य को साधना की आवश्यकता होती है उन्होंने कहा तप और साधना से ही विकास संभव है, सामाजिक कार्य कर आमजन के विकास से ही समाजसेवा संभव है। उन्होंने कहा दिव्य प्रेम सेवा मिशन द्वारा चिकित्सा स्वास्थ्य के क्षेत्र में अद्भुत कार्य किए जा रहे हैं। इस अवसर पर दिव्य प्रेम सेवा मिशन प्रमुख डॉ.आशीष गौतम डॉ.कृष्ण गोपाल(सह सरकार्यवाह आरएसएस),योग गुरु स्वामी रामदेव, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट, पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद्र अग्रवाल,आके श्रीवास्तव (अध्यक्ष,प्रबंधक निदेशक ओ.एन.जी.सी),पूर्व केंद्रीय मंत्री शिव प्रसाद शुक्ल,विधायक प्रदीप बत्रा,विधायक आदेश चौहान सहित कई विशिष्टजन मौजूद रहे।

राजाजी पार्क आम पर्यटकों के लिए खुला,

हरिद्वार। राजाजी टाइगर रिजर्व पार्क स्थित चीला रेंज में सफारी करने के लिए पार्क के गेट मंगलवार को पर्यटकों के लिए खोल दिए गए। पार्क उपनिदेशक कहकशां नसीम ने रीबन काटकर चीला पार्क को सफारी के लिए खोल दिया। उन्होंने इस दौरान सात पर्यटक वाहनों को हरी झंडी दिखाकर सफारी के लिए भेजा जिनमें कुल 41 पर्यटक सवार थे। उन्होंने इस बार अधिक पर्यटकों के आने की उम्मीद भी इस दौरान जतायी। राजाजी टाइगर रिजर्व पार्क स्थित चीला रेंज पार्क के गेट सफारी के लिए 15 नवंबर को खोल दिए गए। इसको लेकर पार्क महकमे ने भी अपनी तैयारी पूर्व में ही पूरी कर ली थी। पार्क के बंद होने के बाद हुई बारिश के बाद कई स्थानों पर क्षतिग्रस्त हुए ट्रैक को भी पार्क प्रबंधन ने पहले ही ठीक कर लिया था। मंगलवार सुबह पार्क उपनिदेशक ने स्कूली बच्चों और उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारियों के साथ पार्क के गेट को पर्यटकों के लिए खोल दिया। पार्क उपनिदेशक ने पर्यटकों से भी जंगल के नियमों का पूर्ण पालन सफारी के दौरान करने की हिदायत भी दी। इस दौरान वन्यजीव प्रतिपालक प्रशांत हिंदवाण,चीला पार्क रेंजर शैलेस घिल्डियाल, डिप्टी रेंजर विनोद शुक्ला और आशीष गौड़ आदि मौजूद रहे।

भैरव जयंती के उपलक्ष्य में जूना अखाड़े के संतों ने निकाली शोभायात्रा

हरिद्वार। भगवान शिव के अवतार काल भैरव के जन्मोत्सव के पावन अवसर पर श्री पंच दशनाम जूना अखाड़े में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है । कार्यक्रमों की इसी श्रृंखला में मंगलवार को जूना अखाड़े द्वारा भव्य शोभायात्रा निकाली गई। जूना अखाड़े के अंतरराष्ट्रीय संरक्षक तथा अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री श्री महंत हरि गिरी महाराज व अखाड़े के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष श्री महंत प्रेम गिरी महाराज के निर्देशन में नागा सन्यासियों साधु-संतों व श्रद्धालु भक्तों ने नगर के प्रमुख बाजारों में भगवान आनंद भैरव अर्थात बटुक भैरव की शोभायात्रा निकाली। जूना अखाड़े स्थित भगवान आनंद भैरव के पौराणिक मंदिर से आनंद भैरव की पूजा अर्चना के पश्चात रथ में सवार शोभायात्रा प्रारंभ की गई। बैंड बाजे ढोल नगाड़ों के साथ-साथ श्री परशुराम अखाड़े के वीरों द्वारा तलवारबाजी, गदा,फरसा तथा अन्य अस्त्र शस्त्रों के प्रदर्शन के साथ बाल्मीकि चौक,दत्तात्रय चौक, हर की पैड़ी,मोती बाजार,बड़ा बाजार होते हुए माया देवी मंदिर पहुंची शोभायात्रा का स्थानीय नागरिकों व्यापारियों तथा श्रद्धालु भक्तों द्वारा जगह-जगह पुष्प वर्षा कर स्वागत किया गया तथा भगवान आनंद भैरव की पूजा अर्चना की। पौराणिक श्री आनंद भैरव मंदिर के मुख्य पुजारी वशिष्ठ गिरी महाराज ने बताया कल बुधवार को भगवान भैरव का जन्मोत्सव है। इस अवसर पर भगवान आनंद भैरव का विशिष्ट श्रृंगार किया जाएगा। पौराणिक परंपराओं और मान्यताओं के अनुसार मध्य रात्रि में भैरव भगवान का उत्सव मनाया जाएगा तथा विशेष महाआरती की जाएगी। इस मौके पर नागा सन्यासियों के अतिरिक्त हजारों श्रद्धालु भक्त उपस्थित रहेंगे। बृहस्पतिवार को प्रसाद वितरण किया जाएगा। श्री महंत हरि गिरि महाराज ने काल भैरव भगवान को शिव का ही अवतार बताते हुए कहा कि 16 नवंबर बुधवार को काल भैरव अष्टमी को उनका जन्म उत्सव जूना अखाड़े में धूमधाम से मनाया जाएगा। उन्होंने बताया काल भैरव भगवान शिव का रूद्र रूप है। मान्यता है कि इस दिन इनका व्रत पूजा करने से भगवान शिव जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं और सभी मनोरथ पूरी कर देते हैं। वर्तमान में भैरव की उपासना बटुक भैरव तथा काल भैरव के रूप में प्रचलित है ।काल भैरव रौद्र रूप के लिए जाने जाते हैं जो नकारात्मक शक्तियों को दंड देते हैं तथा सभी प्रकार के तंत्र मंत्र प्रेत बाधाओं से अपने भक्तों की रक्षा करते हैं। इन्हें भीषण भैरव,चंद्र भैरव, क्रोध भैरव,रूद्र भैरव ,असितांग भैरव,संहार भैरव, कपाली भैरव तथ उन्मुक्त भैरव के रूप में भी जाना जाता है। इसके विपरीत बटुक भैरव अथवा आनंद भैरव इनका सौम्य रूप है । यह अपने भक्तों को सौम्य रूप में अभय प्रदान करते हैं तथा उनकी रक्षा करते हैं । श्री महंत हरी गिरी महाराज ने बताया काल भैरव को खिचड़ी, गुड़, तेल, चावल आदि का भोग लगाया जाता है। इनकी पूजा अर्चना के पश्चात भगवान शिव पार्वती गणेश तथा कार्तिकेय जी की पूजा अवश्य करनी चाहिए। साथ ही इनके वाहन कुत्ते को मीठी रोटी या गुड़ के पुए अवश्य खिलाने चाहिए। मंगलवार को निकाली गई शोभायात्रा में अखाड़े के राष्ट्रीय सचिव श्री महंत महेश पुरी, श्री महंत पशुपति गिरी, थानापति कोठारी महंत महाकाल गिरी, महंत हीरा भारती, श्रीमहंत सुरेशनंद सरस्वती,थानापति राजेंद्र गिरी ,महंत रतन गिरी, महंत राज गिरी ,महंत अमृत पुरी, महंत भीषम गिरी, महंत ग्वाला पुरी सहित बड़ी संख्या में साधु संतों के अलावा आम श्रद्धालु भी शामिल हुए।

वरिष्ठ नागरिकों के हित में प्रदेश में आयोग बनना चाहिए

हरिद्वार। आल इण्डिया सीनियर सीटिजन वैलफेयर सोसायटी ट्रस्ट की एक वर्चुअल बैठक इं0 मधुसूदन अग्रवाल की अध्यक्षता में प्लाजा कम्पलैक्स रानीपुर मोड़ में सम्पन्न हुई। बैठक का संचालन एस0एस0 राणा द्वारा किया गया। बैठक में संरक्षक जगदीश लाल पाहवा ने कहा कि सीनियर सीटिजन की सुरक्षा होना अति आवश्यक है। इं0 मधुसूदन आर्य ने कहा कि प्रदेश में वरिष्ठ नागरिक आयोग बनना चाहिए जिससे कि समय-समय पर वरिष्ठ नागरिकों की समस्याओं का समाधान समय रहते हो सके। राजीव राय महामंत्री ने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों के लिए मनोरंजन के लिए डे फीचर सेंटर बनने चाहिए ताकि वे मनोरंजन कर सके। वरिष्ठ समाजसेवी नानक चन्द्र गोयल ने कहा कि प्रत्येक जिले में वर्तमान परिपेक्ष्य में निराश्रित वरिष्ठजनों के लिए वृद्धाश्रमों का निर्माण किया जाना चाहिए,जिससे की उन्हे उचित संरक्षण व आश्रय मिल सके। विनोद कुमार मित्तल व कमला अग्रवाल ने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों की महिलाओं की सुरक्षा का सरकार विशेष ध्यान दिये जाने पर जोर दिया। बैठक में शांति स्वरूप गुप्ता,एम0पी0एस0 गोयल,सत्यवती अग्रवाल,रेखा नेगी,प्रीति जोशी,मनीषा विमल,इं0प्रेम प्रकाश श्रीवास्तव,अशोक राघव,जगदीश विरमानी,सतीश चन्द्र अग्रवाल,विजय अग्रवाल,विनोद कुमार अग्रवाल, नवीन कुमार, नीरजा अग्रवाल, आर0बी0 माथुर आदि उपस्थित रहे।