बड़ी खबर: 15 अक्टूबर (कल) से वार्षिक रखरखाव, साफ सफाई कार्यो के लिए गंग नहर 20 दिनों के लिए बंद होगी

शुक्रवार से विश्व प्रसिद्व हर की पैड़ी पर गंगाजल की मात्रा कम हो जायेगी,क्योंकि गंगनहर में पानी का बहाव बंद कर दिया जाएगा। ऊपरी गंगा नहर के वार्षिक रख-रखाव एवं अनुरक्षण सम्बन्धी कार्य कराने हेतु भीमगोड़ा बैराज से आधी रात से पानी को बंद कर अगले महीने छोटी दीपावली पर चालू किया जाएगा। गंगाबंदी के दौरान अनुरक्षण कार्यो के साथ साथ साफ-सफाई एवं मरम्मत के कार्य किए जाएंगे। ज्ञात रहे कि हर वर्ष दशहरा पर्व की रात को गंगनहर को बंद कर दिया जाता है। इसके बाद छोटी दीपावली की रात को गंगनहर में पानी छोड़ा जाता है। बंद रहने की अवधि के बीच गंगनहर में मरम्मत और सफाई जैसे कार्य किए जाते हैं। इस बार कल यानि शुक्रवार की मध्य रात्रि से गंगनहर बंदी कर दी जाएगी। सिंचाई विभाग उत्तरी खंड गंगनहर रुड़की के अधिशासी अभियंता ने बताया कि ऊपरी गंगनहर के वार्षिक रख-रखाव और अनुरक्षण संबंधी कार्य कराने के लिए शुक्रवार की मध्य रात्रि से चार नवंबर की मध्य रात्रि तक नहर बंदी रहेगी। उत्तर प्रदेश शासन लखनऊ से नहरबंदी की अनुमति मिलने के बाद नहरबंदी की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। उन्होंने बताया कि इस बारे में विभाग के संबंधित अधिकारियों को सुरक्षा के साथ ही वैकल्पिक व्यवस्था करने के लिए निर्देशित किया गया है।