विद्युत विभाग के एसडीओ ने जैसे ही रकम पकड़ी, विजिलेंस ने दबोच लिया

विद्युत कनेक्शन लगाने के मांगे थे 20 हजार

हरिद्वार। कनखल क्षेत्र में भाजपा पार्षद के भाई से कनेक्शन के नाम पर 20 हजार की रिश्वत लेते ऊर्जा निगम के एसडीओ को विजिलेंस टीम ने शनिवार को रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया। आरोपी एसडीओ कनेक्शन के लिए चार महीने से पीड़ित को चक्कर कटा रहा था। गिरफ्तारी के बाद विजिलेंस ने बंद कमरे में घंटों तक एसडीओ से पूछताछ की। पुलिस के मुताबिक जगजीतपुर के राजा गार्डन से भाजपा पार्षद लोकेश पाल के भाई महेश पाल ने खोखरा तिराहा के पास नया मकान बनाया है। मकान में बिजली का कनेक्शन लेने के लिए उन्होंने चार महीने पहले ऑनलाइन आवेदन किया था। लेकिन एसडीओ संदीप शर्मा कभी निरीक्षण तो निचले कर्मचारियों की रिपोर्ट का बहाना बनाते हुए टालमटोल कर रहे थे। आरोप है कि एसडीओ ने कनेक्शन की एवज में 20 हजार की रिश्वत मांगी। पीड़ित ने इसकी सूचना विजिलेंस के टोल फ्री नंबर 1064 पर दी। इसके बाद विजिलेंस ने एसडीओ को रंगे हाथ पकड़ने के लिए जाल बिछाया। तय योजना के अनुसार शनिवार दोपहर महेश पाल पैसे लेकर पहुंचा, जैसे ही एसडीओ ने रकम हाथ में पकड़ी, विजिलेंस ने रंगे हाथ पकड़ लिया। इससे ऊर्जा निगम कर्मचारियों में अफरातफरी मच गई। विजिलेंस टीम ने घंटों तक पूछताछ करने के साथ ही दफ्तर में फाइलें खंगाली। बाद में टीम एसडीओ को देहरादून लेकर रवाना हो गई।