मुसलमानों के रेस्टोरेंट में जाने से बचें गैर- मुस्लिम, कांग्रेस नेता का विवादित बयान, हाईकमान ने पल्ला झाड़ा

कांग्रेस नेता पीसी जॉर्ज के मुताबिक गैर-मुसलमानों को मुस्लिमों के रेस्टोरेंट में भूलकर भी चाय नहीं पीनी चाहिए, जाने उन्होंने इसकी वजह क्या बताई ?

केरल में मुस्लिमों की ओर से चलाए जा रहे रेस्तराओं पर बड़ा विवाद पैदा हो गया है। कांग्रेस के दिग्गज नेता पीसी जॉर्ज का आरोप है कि इन रेस्तराओं में नपुंसक बनाने वाली चाय बेची जा रही है, जिसका मकसद मुसलमानों का राज स्थापित कर देश पर कब्जा करना है।

पीसी चार्ज केरल में कांग्रेस की अगुवाई यूडीएफ सरकार के पूर्व मुख्य सचेतक एवं पूर्व विधायक रहे हैं। वे शुक्रवार को अनंतपुरी में आयोजित हुए हिंदू महासम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए थे। जॉर्ज ने समारोह में कहा कि केरल में मुसलमानों की ओर से चलाए जा रहे रेस्तराओं से गैर-मुसलमानों को जाने से बचना चाहिए। इन रेस्तराओं को खास मकसद से खोला जा रहा है, जिसका उद्देश्य देश पर कब्जा करना है।

जॉर्ज ने आरोप लगाया कि मुसलमानों की ओर से चलाए जा रहे रेस्तराओं में गैर-मुसलमानों को नपुंसक बनाने वाली चाय बेची जा रही है। इसका मकसद गैर-मुसलमानों की आबादी घटाकर देश अपनी आबादी बढ़ाना है।

हालांकि इस बयान के बाद अब उनकी पार्टी कांग्रेस के लिए बड़ी मुश्किल खड़ी हो गई है। कांग्रेस की केरल इकाई ने जॉर्ज के इस बयान से पल्ला झाड़ते हुए उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। राज्य असेंबली में विपक्ष के नेता और कांग्रेस विधायक वी डी सतीशन ने आरोप लगाया कि जॉर्ज ने यह बयान साम्प्रदायिक भावना भड़काने और समाज में विभाजन पैदा करने के मकसद से दिया।

वहीं इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग की युवा शाखा ने भी इस बयान पर आपत्ति जताई है. लीग ने केरल के डीजीपी को पत्र देकर जॉर्ज के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की है उधर मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने जॉर्ज से बयान वापस लेने और केरल के समाज से माफी मांगने को कहा है।