पार्टी प्रभारी को पत्र भेजकर की प्रत्याशी बदलने की मांग, दूसरा निर्णय करने की चेतावनी

रानीपुर भेल से कांग्रेस की ओर से राजवीर सिंह चौहान को प्रत्याशी बनाये जाने के बाद पार्टी के एक गुट की ओर से विरोध भी शुरू हो गया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं के एक गुट ने रानीपुर विधानसभा में प्रत्याशी बदलने की मांग की है। कार्यकर्ताओं ने प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव को पत्र भेजकर संजीव चौधरी को टिकट दिए जाने की मांग की है। ऐसा नहीं होने पर उन्होंने दूसरा निर्णय लेने की चेतावनी दी है। बताते चले कि संजीव चौधरी ने भाजपा से नगर पालिका शिवालिकनगर अध्यक्ष के चुनाव के लिए टिकट न मिलने पर बगावत की थी। बगावत कर उन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ा और हार गए। जिसके बाद फिर 2021 में कांग्रेस ज्वाइन की थी। प्रदेश प्रभारी को भेजे गए पत्र में कहा गया कि सभी कार्यकर्ता संजीव चैधरी के साथ हैं। समाज के हर वर्ग, सिडकुल के कर्मचारियों की पीड़ा, भेल बचाने के लिए आन्दोलन के साथ ही व्यापारियों के हितों की बात को कांग्रेसी नेता संजीव चौधरी उठाते आए हैं। केवल संजीव चौधरी ही रानीपुर सीट को जीत सकते हैं। उत्तराखंड में कांग्रेस की सरकार तब ही बनेगी जब योग्य उम्मीदवारों को मैदान में उतारा जाएगा। अन्यथा यह पार्टी के हित में नहीं होगा। पत्र भेजने वालों में एसएस चोबे, भगवान सिंह तोमर, रामअवध यादव, परशुराम यादव, अनिल कुमार सिंह, निर्मला चिल्वाल, संतोष बिष्ट, गीता कैठत, ममता भण्डारी, स्नेहलता चौहान, पुष्पेंद्र गुप्ता, आकाश सैनी, संजीव कुमार, नफे सिंह, बलबीर नेगी, मांगेराम, बीएन सिंह, भूपेन्द्र सिंह, जसबीर सिंह, कमलाकांत प्रसाद, खजान सिंह, कुसुम लाल, महेंद्र सिंह, मुसाफिर राम, प्रमेन्द्र, आरएस विकल, रामनारायण राम, सुरेंद्र चौधरी, संतोष यादव, नवीन राव, शालू चौहान, अरविंद कुमार, विपिन राणा आदि रहे। दूसरी ओर पालिका अध्यक्ष का चुनाव लड़ने वाले भेल रानीपुर विधानसभा से कांग्रेस की टिकट की दावेदारी कर चुके महेश प्रताप राणा ने राजवीर चौहान को टिकट मिलने पर नाराजगी जाहिर की है। उनका कहना है कि जो समर्थकों का फैसला होगा वही करेंगे। दूसरी ओर उनका कहना है कि राहुल गांधी, सोनिया गांधी उनके नेता हैं। वह उनके समर्थक रहेंगे।