प्रदेश की सुख-समृद्धि, कोरोना खात्मे की कामना को लेकर महामहिम ने किया रुद्राभिषेक

राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य ने सोमवार को पौराणिक सिद्ध पीठ श्री दक्षिण काली मंदिर में सपरिवार पूजा अर्चना की तथा भगवान भोलेनाथ का विधिविधान से रूद्राभिषेक कर  प्रदेश की सुख, समृद्धि एवं खुशहाली के लिये प्रार्थना की। इस अवसर पर सिद्ध पीठ श्री दक्षिण काली मन्दिर के महामंडलेश्वर आचार्य कैलाशानन्द गिरी जी महाराज ने श्रावण मास में शिव पूजन एवं रूद्राभिषेक के महात्म्य पर प्रकाश डाला। इस दौरान स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज ने शिव आराधना व रूद्राभिषेक का महत्व बताते हुए कहा कि देवों के देव महादेव भगवान शिव की कृपा से साधक की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। प्रत्येक श्रद्धालु भक्त को नित्यप्रति विधि विधान से भगवान शिव का जलाभिषेक व पूजन अवश्य करना चाहिए। राज्यपाल ने कहा कि आज सावन का अन्तिम सोमवार है तथा ऐसी मान्यता है कि भगवान भोलेनाथ श्रावण मास में हरिद्वार में निवास करते हैं, मेरी भोलेनाथ में अगाध श्रद्धा है, इसलिए आज मैंने भगवान भोलेनाथ से प्रार्थना की है कि हमारे प्रदेश को कोरोना मुक्त करंे, लोग खुशहाल हों, बच्चे स्वस्थ रहें, सब ओर प्रगति हो। उन्होंने मां गंगा से भी अपना आशीर्वाद बनाये रखने की कामना की। उन्होंने कहा कि मुझे ऐसा प्रतीत हो रहा है कि जैसे भगवान शिव ने ही मुझे यहां बुलाया है, यहां आकर मन को बड़ी आत्मिक शान्ति प्राप्त हुई। इस अवसर पर जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सैंथिल अबुदई कृष्णराज एस, अपर जिलाधिकारी प्रशासन बी0के0 मिश्रा, उपजिलाधिकारी अंशुल सिंह, एसडीएम गोपाल सिंह चैहान, मुख्य चिकित्सा अधिकारी एस0के0 झा सहित संबंधित विभागों के अधिकारियांे के अलावा आचार्य पवनदत्त मिश्र, लाल बाबा, पंडित प्रमोद पाण्डे, अवंतिकानंद ब्रह्मचारी, कृष्णानंद ब्रह्मचारी, बालमुकुंदानंद ब्रह्मचारी, समाजसेवी संजय जैन आदि उपस्थित रहे।